ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRगुरुग्राम में फैक्टरी धमाके में मरने वालों की संख्या 5 हुई, 300 मीटर दूर तक 15 छतें भी उड़ीं

गुरुग्राम में फैक्टरी धमाके में मरने वालों की संख्या 5 हुई, 300 मीटर दूर तक 15 छतें भी उड़ीं

गुरुग्राम में फायर बॉल बनाने वाली फैक्टरी में धमाके से मरने वालों की संख्या बढ़कर पांच हो गई है। धमाका इतना तेज था कि तीन किलोमीटर दूर तक परखच्चे बिखर गए। पढ़ें हादसे को लेकर ताजा अपडेट...

गुरुग्राम में फैक्टरी धमाके में मरने वालों की संख्या 5 हुई, 300 मीटर दूर तक 15 छतें भी उड़ीं
fire in gurugram factory
Krishna Singhहिन्दुस्तान,गुरुग्रामSat, 22 Jun 2024 11:13 PM
ऐप पर पढ़ें

गुरुग्राम के दौलताबाद औद्योगिक क्षेत्र में फायर बॉल बनाने वाली फैक्टरी में धमाके में मरने वालों की संख्या बढ़कर पांच हो गई है। हादसे में छह कर्मचारी गंभीर रूप घायल हो गए। तीन मृतकों की पहचान हुई और एक शव की पहचान नहीं हो पाई है। यह हादसा शुक्रवार रात 2.23 बजे हुआ। धमाका इतना तेज था कि तीन किलोमीटर दूर तक फैक्टरी के परखच्चे बिखर गए। इससे पूरे क्षेत्र में अफरा-तफरी मच गई। सूचना पर दमकल विभाग की दस गाड़ियां मौके पर पहुंच तीन घंटों की कड़ी मशक्कत में आग पर काबू पाया। 

फैक्टरी में दबे शवों को निकालने के लिए एसडीआरएफ समेत तीन टीमें नौ घंटे तक रेस्क्यू किया। गुरुग्राम दमकल विभाग के तकनीकी उपनिदेशक गुलशन कालरा ने बताया कि रात 2.35 बजे फैक्टरी में आग की सूचना मिलने से गाड़ियों को मौके पर भेज दिया। दौलताबाद औद्योगिक क्षेत्र के फायर एंड पर्सनल सेफ्टी एंटरप्राइजेज फैक्टरी में फायर बॉल बनाने का काम किया जाता था। बीते एक सप्ताह से फैक्टरी को दूसरी जगह शिफ्ट करने का काम चल रहा था। 

कंपनी में छह कर्मी शुक्रवार रात की शिफ्ट में काम कर रहे थे। यहां पर बेल्डिंग का काम हो रहा था। फायर बॉल के आगे एक विस्फोटक लगता है, जिसमें गंधक होती है। चिंगारी उठकर उसमें जा गिरी। फैक्टरी में आग पकड़ने से पहले दो से तीन धमाके हुए। रात को दो बजकर 24 मिनट पर बड़ा धमाका हुआ। इस धमाके से आसपास की 15 फैक्टरियों को भी नुकसान पहुंचा। धमाके से तीन सौ मीटर दूर तक 15 फैक्टरियों की छतें उड़ गईं। फैक्टरी में लोहे की चादर समेत दीवार की ईंटें द्वारका एक्सप्रेसवे के सर्विस रोड पर आ गिरीं। 

इस धमाके में चार कर्मचारियों की दर्दनाक मौत हो गई है। इसमें लक्ष्मण विहार निवासी 28 वर्षीय कौशिक, उत्तर प्रदेश के रायबरेली निवासी 26 वर्षीय अरुण, और रामअवध सेंट्रल दिल्ली निवासी के रूप में हुई है। जबकि छह कर्मचारी गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। एक शव की पहचान नहीं हो पाई है। गुरुग्राम उपायुक्त कुमार यादव ने बताया कि जांच के लिए गुरुग्राम एसडीएम के नेतृत्व में पांच सदस्यीय कमेटी बनाई है। इसकी रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई होगी। मृतकों और घायलों के परिजनों को मुआवजा देने की प्रक्रिया पूरी की जा रही है।