ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRगुरुग्राम-दिल्ली के बीच सफर होगा आसान, यहां बनेगी 6 लेन की रोड; किसे होगा फायदा

गुरुग्राम-दिल्ली के बीच सफर होगा आसान, यहां बनेगी 6 लेन की रोड; किसे होगा फायदा

दिल्ली और गुरुग्राम के बीच सफर और आसान होने वाला है। हरियाणा और दिल्ली सरकार ने मिलकर फरीदाबाद रोड पर गांव ग्वाल पहाड़ी से दिल्ली के अंधेरिया मोड़ तक छह लेन की रोड बनाने का फैसला लिया है।

गुरुग्राम-दिल्ली के बीच सफर होगा आसान, यहां बनेगी 6 लेन की रोड; किसे होगा फायदा
Sneha Baluniदीपक आहूजा,गुरुग्रामThu, 23 May 2024 11:13 AM
ऐप पर पढ़ें

गुरुग्राम और दिल्ली के बीच कनेक्टीविटी को मजबूत करने की दिशा में हरियाणा और दिल्ली सरकार ने मिलकर एक कदम और बढ़ाया है। गुरुग्राम-फरीदाबाद रोड पर गांव ग्वाल पहाड़ी से दिल्ली के अंधेरिया मोड़ तक सड़क की चौड़ाई को 30 मीटर किया जाएगा। मौजूदा समय में यह सड़क दो लेन की है, जिसे दोनों तरफ तीन-तीन लेन बनाने की योजना है।

अधिकारियों का कहना है कि इसके बनने के बाद वाहन चालकों को यातायात जाम में नहीं फंसना पड़ेगा। मौजूदा समय में इस सड़क की चौड़ाई कहीं पर साढ़े सात मीटर तो कहीं 10 मीटर है। इस वजह से दिल्ली एरिया में अक्सर यातायात जाम की स्थिति बनी रहती है। इस योजना को अमल में लाने के लिए यूनिफाइड ट्रैफिक एंड ट्रांसपोरेशन इंफ्रास्ट्रक्चर प्लानिंग एंड इंजीनियरिंग सेंटर (यूटीटीआईपीईसी) ने अर्बन डिवेलपमेंट फंड के तहत 50 करोड़ रुपये मंजूर कर दिए हैं। इस राशि को दिल्ली के पीडब्ल्यूडी को स्थानांतरित कर दी है। जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया को शुरू किया जाएगा। 

ग्वाल पहाड़ी से लेकर अंधेरिया मोड़ तक करीब 8.8 किलोमीटर लंबी सड़क की चौड़ाई बढ़ाने की योजना है। गत 24 अप्रैल को दिल्ली के मुख्य सचिव नरेश कुमार की अध्यक्षता में एक बैठक हुई थी। इसमें दिल्ली के शहरी विकास विभाग, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र योजना बोर्ड, यूटीटीआईपीईसी, दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र शासन के राजस्व, पीडब्ल्यूडी और परिवहन विभाग के अलावा गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण, नगर एवं ग्राम नियोजन विभाग, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के 29 अधिकारी शामिल हुए थे। इस बैठक में मुख्य सचिव नरेश कुमार ने बताया था कि दिल्ली के राज्यपाल की अध्यक्षता में यूटीटीआईपीईसी की एक बैठक गत 19 अप्रैल को हुई है।

जमीन अधिग्रहण की दिशा में कदम उठाया जाएगा

इसमें इस सड़क की चौड़ाई बढ़ाने की योजना को मंजूरी मिल चुकी है। पीडब्ल्यूडी अधिकारियों ने बैठक में बताया था कि दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र शासन ने इस सड़क के लिए जमीन अधिग्रहण करने की प्राथमिक मंजूरी प्रदान कर दी है। अब वित्त विभाग से मंजूरी लेने के बाद जमीन अधिग्रहण की दिशा में कदम उठाया जाएगा। इसको लेकर गत 15 मई को यूटीटीआईपीईसी के शहरी विकास के विशेष सचिव केएस मीणा आईएएस ने इस बैठक में तैयार योजना से हरियाणा और दिल्ली सरकार के सभी अधिकारियों को अवगत करवाया है। बता दें कि गुरुग्राम के ग्वाल पहाड़ी में मौजूदा समय में दो-दो लेन की सड़क है। अब इसे चौड़ा किया जाएगा।

हाईवे पर दबाव कम होगा

मौजूदा समय में दिल्ली-जयपुर हाईवे पर यातायात दबाव अधिक है। रोजाना करीब एक से सवा लाख वाहन इस हाईवे से होकर दिल्ली में प्रवेश करते हैं। करीब इतने ही वाहन गुरुग्राम में आते हैं। एमजी रोड, गोल्फ कोर्स रोड, गोल्फ कोर्स एक्सटेंशन रोड, गुरुग्राम-सोहना रोड के वाहन चालक दिल्ली जाने के लिए दिल्ली-जयपुर हाईवे का इस्तेमाल करते हैं, जिसके कारण दिल्ली बॉर्डर पर यातायात जाम की स्थिति बन जाती है। इस दबाव को कम करने के उद्देश्य से ग्वाल पहाड़ी गांव से अंधेरिया मोड़ तक सड़क कनेक्टीविटी को बेहतर बनाने की योजना बनाई है। माना जा रहा है कि इस सड़क के शुरू होने के बाद इस क्षेत्र का यातायात इसके माध्यम से दिल्ली पहुंच जाएगा। इससे दिल्ली-जयपुर हाईवे पर यातायात दबाव कम हो जाएगा।

वाहन चालकों को राहत होगी

मौजूदा समय में दिल्ली-जयपुर हाईवे, द्वारका एक्सप्रेसवे, एमजी रोड के माध्यम से गुरुग्राम और दिल्ली के बीच कनेक्टीविटी है। ग्वाल पहाड़ी से मांडी होते हुए अंधेरिया मोड़ तक नई कनेक्टीविटी के बेहतर होने से राहत मिलेगी।