ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRगुरुग्राम पुलिस ने ड्रोन के जरिए पकड़ी कच्ची शराब बनाने वाली डिस्टिलरी, कैसे चला ऑपरेशन?

गुरुग्राम पुलिस ने ड्रोन के जरिए पकड़ी कच्ची शराब बनाने वाली डिस्टिलरी, कैसे चला ऑपरेशन?

Gurugram Crime News: गुरुग्राम पुलिस ने अवैध शराब फैक्ट्री का पता लगाने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया। साथ ही सात लोगों को गिरफ्तार किया और 1,600 लीटर कच्ची शराब जब्त की। पढ़ें यह रिपोर्ट...

गुरुग्राम पुलिस ने ड्रोन के जरिए पकड़ी कच्ची शराब बनाने वाली डिस्टिलरी, कैसे चला ऑपरेशन?
Krishna Singhहिन्दुस्तान,गुरुग्रामTue, 11 Jun 2024 09:50 PM
ऐप पर पढ़ें

अरावली के जंगल में अवैध तरीके से बनाई जा रही कच्ची शराब का गुरुग्राम पुलिस ने ड्रोन की मदद से जानकारी हासिल कर भंडाफोड़ किया। पुलिस ने मौके से शराब बनाने का सामान और बेचने के लिए रखी गई 50 लीटर शराब भी जब्त की। पुलिस ने भोंडसी थाने में मामला दर्ज करने के बाद सात आरोपियों को मौके से गिरफ्तार किया। आरोपियों की पहचान सच्चे, गंगा, मनोज, अनिल, खेमचंद निवासी रिठौज (गुरुग्राम) व मुंशीराम निवासी सहजावास, गुरुग्राम के रूप में हुई। इनमें एक नाबालिग भी शामिल है।

सात आरोपी गिरफ्तार
एसीपी सोहना विपिन अहलावत ने बताया कि उनको अरावली में काफी दिनों से कच्ची शराब मिलने की जानकारी मिल रही थी, लेकिन सटीक लोकेशन नहीं पता होने के कारण आरोपियों तक पहुंचने में मुश्किले सामने आ रही थी। ऐसे में पुलिस ने गांव रिठौज में ड्रोन की मदद से आरोपियों के लोकेशन की पहचान की। उसके बाद भोंडसी थाना पुलिस के साथ मौके पर जाकर छापेमारी की गई। सात आरोपी शराब बनाते हुए मिले और उनको गिरफ्तार किया गया।

मौके से सामान जब्त
पुलिस ने आरोपियों द्वारा तैयार की गई 50 लीटर कच्ची शराब,आठ अलग-अलग ड्रमों में कुल 1600 लीटर लाहण, दो लोहे के ड्रम, 08 खाली ड्रम (प्लास्टिक), 03 प्लास्टिक कैन, 03 प्लास्टिक कैन (भरी हुई), 01 कस्सी, 01 कुल्हाड़ी, 01 डांगी, 02 बड़े बर्तन (मिट्टी के), 03 प्लास्टिक की पीपी व 03 एंगल को बरामद किया गया। भोंडसी थाना प्रभारी महेंद्र सिंह ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ आबकारी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।

अरावली के जंगल में चोरी-छिपे बना रहे थे शराब
जांच में सामने आया है कि आरोपी कई दिनों से शराब बनाने का काम कर रहे थे। पुलिस से बचने के लिए अरावली के जंगल में सुनसान इलाके में भट्ठी लगाई गई थी। भट्ठी तक पहुंचने के रास्ते भी कच्चे थे। एसीपी सोहना विपिन अहलावत ने ड्रोन से रैकी करवाई और उसके बाद पूरी जानकारी हासिल की गई। आरोपियों से भट्ठी लगाकर शराब बनाने के मामले में अन्य साथियों के बारे में गहनता से पूछताछ को जा रही है। पुलिस पूछताछ में जो भी तथ्य समक्ष आएंगे उनके अनुसार आगामी कार्रवाई की जाएगी।

घाटा के पास भी पकड़ी गई थी कच्ची शराब
गुरुग्राम जिले में अरावली की पहाड़ियों में कच्ची शराब बनाकर बेचने का काम कई सालों से चल रहा है। आबकारी विभाग और गुरुग्राम पुलिस अरावली की पहाड़ियों में छापेमारी कर आरोपियों की धरपकड़ भी करती है,लेकिन लोगों को सस्ती शराब बेच कर मुनाफा कमाने के चक्कर में लोगों की सेहत से खिलवाड़ करते है। ऐसे में सस्ते के चक्कर में लोगों को इन शराब का सेवन नहीं करना चाहिए। डीसीपी दक्षिण सिद्धांत जैन ने ने बताया- मामले में आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।