ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRएटीएम के पावर प्लग में चिप लगा रिमोट से कर लेते थे कंट्रोल, गुरुग्राम पुलिस ने 5 को दबोचा

एटीएम के पावर प्लग में चिप लगा रिमोट से कर लेते थे कंट्रोल, गुरुग्राम पुलिस ने 5 को दबोचा

गुरुग्राम पुलिस ने एटीएम धोखाधड़ी करने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए दो महिलाओं समेत पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने अपराध में इस्तेमाल की गई लग्जरी कार बरामद की है।

एटीएम के पावर प्लग में चिप लगा रिमोट से कर लेते थे कंट्रोल, गुरुग्राम पुलिस ने 5 को दबोचा
Krishna Singhपीटीआई,गुरुग्रामWed, 05 Jun 2024 11:46 PM
ऐप पर पढ़ें

गुरुग्राम पुलिस ने एटीएम धोखाधड़ी करने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने दो महिलाओं समेत पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि आरोपी एटीएम मशीन के पावर प्लग में चिप लगाकर रिमोट कंट्रोल से मशीन को कंट्रोल कर लेते थे और यूजर्स को धोखा देकर एटीएम से पैसे चुराते थे। पुलिस ने अपराध में इस्तेमाल की गई लग्जरी कार और 23,200 रुपये कैश बरामद किए हैं।

पुलिस की ओर से साझा की गई जानकारी के अनुसार, गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान नूंह जिले के अहसान और रईस, यूपी के औरैया के अशफाक और दिल्ली के शाहदरा निवासी नंदिनी और महक के रूप में हुई है। पुलिस ने बताया कि 3 जून को सेक्टर 10ए स्थित एक्सिस बैंक के शाखा प्रबंधक ने एक शिकायत दर्ज कराई थी। इसमें उन्होंने कहा था कि रविवार रात कुछ लोग एटीएम से पैसे चुरा रहे हैं। इसके बाद सेक्टर 10ए थाने में एफआईआर दर्ज की गई। 

पुलिस ने मामले की छानबीन की। इसके बाद पुलिस को पांचों आरोपी मिले। आरोपियों को सोमवार और बुधवार को अलग-अलग जगहों से गिरफ्तार किया गया। एसीपी (क्राइम) वरुण दहिया ने गिरोह के काम करने के तरीके के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वे एटीएम के पावर प्लग में एक चिप सेट लगाते थे। इसके जरिए वे रिमोट कंट्रोल के जरिए मशीन को चालू या बंद कर सकते थे।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि जब कोई व्यक्ति पैसे निकालने की कोशिश करता था तो आरोपी पैसे निकलने से ठीक पहले एटीएम को बंद कर देते थे। इस बीच, गिरोह की दो महिला सदस्य पीड़ित को भरोसा दिलाती थीं कि 24 घंटे के भीतर आपके पैसे खाते में वापस आ जाएंगे। व्यक्ति के जाने के बाद गिरोह एटीएम ट्रे से पैसे निकाल लेता था। गिरोह ने पूछताछ में बताया कि उन्होंने इसी तरीके से चार वारदातें (दो दिल्ली में, एक फरीदाबाद में और एक गुरुग्राम में) की हैं।