ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRजज को ठीक से नहीं दी सलामी, गुरुग्राम कोर्ट ने एसीपी के खिलाफ ऐक्शन लेने के दिए आदेश

जज को ठीक से नहीं दी सलामी, गुरुग्राम कोर्ट ने एसीपी के खिलाफ ऐक्शन लेने के दिए आदेश

गुरुग्राम की एक अदालत ने पेशी के दौरान जज को ठीक से सलामी नहीं देने पर एसीपी के खिलाफ ऐक्शन लेने के आदेश दिए हैं। साथ ही अधिकारियों से ऐक्शन टेकन रिपोर्ट तलब की है। पढ़ें यह रिपोर्ट...

जज को ठीक से नहीं दी सलामी, गुरुग्राम कोर्ट ने एसीपी के खिलाफ ऐक्शन लेने के दिए आदेश
Krishna Singhभाषा,गुरुग्रामThu, 29 Feb 2024 12:33 AM
ऐप पर पढ़ें

गुरुग्राम की एक अदालत ने पुलिस आयुक्त को आदेश दिया है कि वह पेशी के दौरान न्यायाधीश को ठीक से सलामी नहीं देने वाले एसीपी के खिलाफ कार्रवाई करें। स्थानीय पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस मामले की जांच पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) करण गोयल को सौंपी गई है।

पुलिस के मुताबिक, एसीपी नवीन शर्मा और उनकी टीम धोखाधड़ी के मामले में एक आरोपी को पेश करने के लिए न्यायिक दंडाधिकारी (प्रथम श्रेणी) विक्रांत की अदालत में गई थी। अदालत ने प्रकरण में आदेश पारित किया जिसमें एसीपी की सलामी का भी उल्लेख है और पुलिस आयुक्त से मामले में कार्रवाई करने को कहा गया है।

आदेश में कहा गया कि जैसे ही आदेश पारित हुआ, जांच अधिकारी एसीपी नवीन ने सिर्फ अपना हाथ उठाकर और दो उंगलियों से माथे को छूकर अनुचित तरीके से पीठ को सलामी दी।

आदेश में कहा गया है कि जब पुलिस अधिकारी से सलामी के बारे में पूछा गया तो उनका कहना था कि उन्होंने तीन तरह की सलामी सीखी है, यानी सिर्फ कोहनी उठाना, माथे को छूना और फिर उचित सलामी देना। हालांकि, जब अधिकारी को एहसास हुआ कि अदालत चुटकुले सुनाने की जगह नहीं है तब उन्होंने बहाना बनाया कि उन्होंने तंग कमीज पहनी हुई थी, इसलिए आसन को सलामी देते वक्त सहज नहीं थे।

अदालत ने कहा कि 2010 में हरियाणा पुलिस में शामिल किए गए एसीपी का आचरण प्रोटोकॉल और नियमों के खिलाफ है। आदेश में पुलिस आयुक्त को पंजाब पुलिस नियमावली के तहत अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा गया है। कोर्ट ने एक सप्ताह के भीतर रिपोर्ट सौंपने का भी निर्देश दिया गया। जांच प्रभारी गोयल ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है और जल्द ही एक रिपोर्ट अदालत को सौंपी जाएगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें