ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRवर्ल्ड कप में इंडिया की हार का गम, उबरने को इस कंपनी ने सबको दे दी छुट्टी; स्कूल ने टाला टेस्ट

वर्ल्ड कप में इंडिया की हार का गम, उबरने को इस कंपनी ने सबको दे दी छुट्टी; स्कूल ने टाला टेस्ट

वर्ल्ड कप फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के सामने भारत की दिल तोड़ने वाली हार से पूरा देश दुखी है। इस बीच गुरुग्राम की एक कंपनी ने अपने सभी कर्मचारियों को गम से उबरने को एक दिन की छुट्टी दे दी।

वर्ल्ड कप में इंडिया की हार का गम, उबरने को इस कंपनी ने सबको दे दी छुट्टी; स्कूल ने टाला टेस्ट
Sudhir Jhaलाइव हिन्दुस्तान,गुरुग्रामTue, 21 Nov 2023 10:25 AM
ऐप पर पढ़ें

वर्ल्ड कप फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के सामने भारत की दिल तोड़ने वाली हार से पूरा देश दुखी है। लगातार 10 मैच में शानदार प्रदर्शन के बाद खिताबी मुकाबले में हार के बाद से फैंस के लिए इसे भुलाना मुश्किल हो रहा है। गुरुग्राम की एक कंपनी ने इस गम को गंभीरता से लेते हुए सभी कर्मचारियों को एक दिन की छुट्टी दे दी ताकि सभी घर पर रहकर इससे उबरने की कोशिश कर सकें। उधर, फरीदाबाद के एक स्कूल में भी यूनिट टेस्ट को टाल दिया गया।

मार्केटिंग मूव्स एजेंसी के एक सदस्य दीक्षा गुप्ता ने भारत की हार और ऑस्ट्रेलिया की 6 विकेट से जीत के बाद लिंकडिन पर अपनी भावनाएं शेयर कीं। उन्होंने बताया कि वर्ल्ड कप की हर गतिविधि पर निगाह रखने के बाद अब उनके लिए किस तरह इस हार को झेलना मुश्किल हो रहा है। इसके बाद कहानी में नया मोड़ आया। अगली सुबह उन्होंने एक और मैसेज किया जो अब वायरल हो गया है।

दीक्षा ने नए पोस्ट में लिखा, 'आज सुबह जब उठी तो बॉस का एक मैसेज मिला कि हार के प्रभाव को कम करने के लिए सभी को एक दिन की छुट्टी दी गई है। यह हैरान करने वाला था और हम में से कोई तब तक विश्वास नहीं कर पाया जब तक आधिकारिक तौर पर ईमेल नहीं आ गया।' उन्होंने इस पोस्ट के साथ अपने बॉस के मैसेज का स्क्रीनशॉट भी साझा किया।

दीक्षा के बॉस चिराग अलावधी ने मैसेज में लिखा है, 'मौजूदा वर्ल्ड कप में भारत की हार की वजह से हम अपनी टीम पर प्रभाव को स्वीकार करते हैं। इस टाइम कुछ सपोर्ट देने के लिए कंपनी ने आराम करने के लिए कंपनी ने एक दिन की छुट्टी देने का फैसला किया है। हमारा मानना ​​है कि यह सभी को फिर से संगठित होने और उबरने का अवसर प्रदान करेगा। हम मजबूत होकर वापसी करेंगे।' बाद में ईमेल के जरिए भी सभी कर्मचारियों को यह मैसेज भेजा गया।