DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुरु नानक जयंती 2017 : नगर कीर्तन खालसाई शानो-शौकत से निकला

sikh

 दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की ओर से गुरुनानक देव जी के प्रकाश पर्व के अवसर पर नगर कीर्तन का आयोजन किया गया। नगर कीर्तन गुरु ग्रंथ साहिब की छत्रछाया और पंज प्यारों के नेतृत्व में अरदास के बाद गुरुद्वारा सीसगंज साहिब से आरंभ हुआ।
नगर कीर्तन चांदनी चौक, फतेहपुरी, खारी बाउली, लाहौरी गेट, कुतुब रोड, तेलीवाड़ा, आजाद मार्केट, पुलबंगश, रोशनारा रोड, घंटाघर सब्जीमंडी, राणा प्रताप बाग, बेबे नानकी चौक से होता हुआ गुरुद्वारा नानक प्याऊ पहुंचकर संपन्न हुआ।

 सत्य के मार्ग पर चलकर अन्याय से लड़ें
इस मौके पर कमेटी अध्यक्ष मनजीत सिंह ने संगतों को संगतों को संबोधित करते हुए गुरुनानक देव जी के प्रकाश पर्व की सारे पंथ को बधाई दी। उन्होंने कहा कि गुरुनानक देव जी ने समाज की कुरीतियों को जड़ से उखाड़ने का काम किया। साथ ही आम लोगों को सत्य  मार्ग पर चलकर अन्याय से लड़ने की प्रेरणा दी।

गुरुनानक देव जी के विचारों पर चलें लोग
कमेटी के महासचिव मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि गुरुनानक देव जी ने समाज में ऊंच-नीच, जात-पात के भेदभाव को खत्म किया। यदि लोग गुरुनानक देव जी के विचारों पर चलें तो समाज से अपराध, भ्रष्टाचार जैसी समस्याएं खत्म हो जाएंगी। इस दौरान कमेटी के वरिष्ठ उपप्रधान हरमीत सिंह कालका, संयुक्त सचिव अमरजीत सिंह फतेह नगर, धर्मप्रचार कमेटी के चेयरमैन राणा परमजीत सिंह, कमेटी सदस्य अवतार सिंह हित आदि उपस्थित रहे।

पल-पल की जानकारी देता रहा जीपीएस : 
हर साल नगर कीर्तन निकलने के दौरान पालकी साहिब की स्थिति जानने के लिए श्रद्धालुओं को काफी मुश्किल होती थी। इसे ध्यान में रखते हुए पालकी साहिब की सही स्थिति की जानकारी देने के लिए पहली बार कमेटी की वेबसाइट पर खास प्रबंध किए गए थे। कमेटी ने पालकी साहिब को जीपीएस से जोड़ दिया। ऐसे में कमेटी की वेबसाइट पर दिल गए लिंक पर क्लिक कर के कोई भी व्यक्ति पालकी साहिब की वर्तमान स्थिति को देख सकता था।

सजे-धजे घुड़सवार 
नगर कीर्तन में नगाड़ा गाड़ी, बैंड बाजे और सजे-धजे घुड़सवार भी दिखाई दिए। इस दौरान गुरु महाराज की लाड़ली फौज (निहंग) ने भी अपने युद्ध कौशल का परिचय दिया। खालसा स्कूल और कॉलेजों के विद्यार्थी बैंड बाजों के साथ नगर कीर्तन की शोभा बढ़ा रहे थे। गतका दलों की ओर से भी कला का प्रदर्शन किया गया। कई जगहों पर आम लोगों ने गुरु ग्रंथ साहिब के लिए स्वागत गेट बनाए थे। किसी ने फूलों से गेट बनाया था तो किसी ने रंगीन कपड़ो से सजा हुआ।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Guru Nanak Jayanti 2017: Nagar Kirtan khalsai emerged from lust