DA Image
14 नवंबर, 2020|12:02|IST

अगली स्टोरी

इन उपायों से पटरी पर लौटेगी दिल्ली की अर्थव्यवस्था, सरकार की कमेटी ने दिए कई अहम सुझाव

coronavirus

कोरोना वायरस महामारी के कारण बुरी तरह प्रभावित हुई अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के मद्देनजर गठित दिल्ली सरकार की एक कमेटी ने बुधवार को लाइसेंस मानदंडों में बदलाव और नियमों के सरलीकरण पर जोर दिया। कमेटी ने सुझाव दिया कि महामारी से संबंधित दिशानिर्देशों को आसान बनाया जाए ताकि व्यवसाय और विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों में कार्य बहाली बेहतर तरीके से सुनिश्चित हो सके। 

इस बीच स्वास्थ्य विभाग के एक बुलेटिन के मुताबिक, बुधवार को राजधानी में कोरोना वायरस संक्रमण के 2,033 नए मामले सामने आए, इसके साथ ही संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 1,04,864 तक पहुंच गया। इस घातक वायरस से 48 और मरीजों की मौत के बाद मृतक संख्या 3,213 हो गई। बुलेटिन के अनुसार, दिल्ली में 23,452 मरीज उपचाराधीन हैं।

वहीं, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शहर में पिछले दो हफ्तों में कोविड-19 से हुई मौत के लिए जिम्मेदार कारकों पर स्वास्थ्य सचिव से विस्तृत विश्लेषणात्मक रिपोर्ट मांगी है। अधिकारियों के मुताबिक, दिल्ली में पिछले दो हफ्तों में कोविड-19 से 800 से अधिक मौत हुई जिनमें से 397 लोगों की जुलाई के पहले हफ्ते में इस बीमारी से मौत हुई थी।

कोविड-19 : ऑटो चालक, दिहाड़ी मजदूर और घरेलू सहायकों की होगी जांच

अधिकारियों ने कहा कि रिपोर्ट मांगने का मकसद राजधानी में कोरोना वायरस से होने वाली मौतों को घटाने के लिए सभी संभव कदम उठाना है। आर्थिक बहाली के लिए गठित कमेटी की पहली बैठक की अध्यक्षता दिल्ली डायलॉग कमीशन के उपाध्यक्ष जैस्मिन शाह ने की और इस दौरान लॉकडाउन के कारण प्रभावित अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए विचार-विमर्श किया गया। 

इस कमेटी का गठन पिछले सप्ताह मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल अनिल बैजल की सिफारिश पर किया गया। कमेटी की बैठक में व्यापार, उद्योग और रेस्त्रां क्षेत्रों के प्रतिनिधियों के अलावा वरिष्ठ सरकारी अधिकारी भी मौजूद रहे। शहर में इस घातक बीमारी से पहली मौत 14 मार्च को हुई थी और एक महीने के भीतर, मृतक संख्या 1,000 के करीब पहुंच गई थी। अगली 1,000 मौतें आठ दिनों में और 19 जून तक मरने वालों की संख्या 2,035 थी।

वहीं चार जुलाई को, दिल्ली में कोविड-19 से होने वाली मौत का आंकड़ा 3,004 पर पहुंच गया। कोरोना वायरस के कारण हो रही मौतों को रोकने के लिए उठाए गए विभिन्न कदमों में से एक के तहत आम आदमी पार्टी (आप) ने दिल्ली में प्लाज्मा बैंक गठित किया और सरकार कोविड-19 से ठीक होने वाले मरीजों को जान बचाने वाले खून के इस घटक (प्लाज्मा) का दान देने के लिए प्रोत्साहित कर रही है। उधर, पूर्वी दिल्ली स्थित खेल गांव में बने 500 बिस्तर वाले कोविड देखभाल केंद्र का मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डिजिटल उद्घाटन किया। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Government Panel gave many suggestions to bring economy back on track in Delhi