DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गरीबों को मुफ्त इलाज न देने वाले पांच अस्पताल 583 करोड़ रुपये जमा कराएं

प्रतीकात्मक तस्वीर

दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) से बाजार दर से कहीं कम कीमत पर जमीन लेने के बावजूद गरीबों को मुफ्त इलाज न देने वाले दिल्ली के पांच बड़े निजी अस्पतालों को 583 करोड़ रुपये का रिकवरी नोटिस जारी किया गया है। इसमें सबसे ज्यादा 503 करोड़ रुपये का रिकवरी नोटिस एस्कॉर्ट अस्पताल को जारी किया गया है।  

इन अस्पतालों को एक महीने के भीतर ये राशि दिल्ली सरकार के पास जमा करानी होगी। केंद्रीय स्वास्थ्य सेवा महानिदेशक डॉ. कीर्ति भूषण ने हिन्दुस्तान से बातचीत में बताया कि इन अस्पतालों ने डीडीए से बाजार दर से कहीं कम कीमत पर जमीन हासिल की थी। शर्त ये थी कि इस जमीन पर बने अस्पतालों में ओपीडी का 25 फीसदी और आईपीडी का 10 फीसदी इलाज गरीब मरीजों को मुफ्त में मिले।  

हालांकि, ये अस्पताल ऐसा कोई भी सबूत नहीं दे सके जिससे ये साबित हो सके कि उन्होंने गरीबों का मुफ्त में इलाज किया हो। दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मामले पर सुनवाई करते हुए दिल्ली के प्रमुख सचिव (स्वास्थ्य) की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाकर इन अस्पतालों से रिकवरी करने का आदेश दिया था।

किस अस्पताल को कितने का नोटिस

अस्पताल                    रिकवरी रकम 

एस्कॉर्ट                         503 करोड़

मैक्स साकेत                  17 करोड़

शांति मुकुंद                    36 करोड़

पुष्पावती सिंघानिया        10 करोड़

नारायणा धर्मशिला          17 करोड़

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Government give Recovery notice to Five Hospitals for Deposit Rs 583 Crore