ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRनोएडा-ग्रेटर नोएडा में आज से शुरू होगी 10 हजार फ्लैटों की रजिस्ट्री, इन प्रोजेक्ट्स में मिलेगा घरों का मालिकाना हक

नोएडा-ग्रेटर नोएडा में आज से शुरू होगी 10 हजार फ्लैटों की रजिस्ट्री, इन प्रोजेक्ट्स में मिलेगा घरों का मालिकाना हक

नोएडावासियों का फ्लैटों की रजिस्ट्री का इंतजार आज खत्म हो जाएगा। नोएडा और ग्रेटर नोएडा के दस हजार से अधिक फ्लैटों की रजिस्ट्री शुरू होगी। लोगों को अपने घरों पर मालिकाना हक मिलेगा।

नोएडा-ग्रेटर नोएडा में आज से शुरू होगी 10 हजार फ्लैटों की रजिस्ट्री, इन प्रोजेक्ट्स में मिलेगा घरों का मालिकाना हक
Praveen Sharmaनोएडा। हिन्दुस्तानFri, 01 Mar 2024 05:36 AM
ऐप पर पढ़ें

गौतमबुद्ध नगर जिले के लोगों का फ्लैटों की रजिस्ट्री का इंतजार आज खत्म हो जाएगा। नोएडा और ग्रेटर नोएडा के दस हजार से अधिक फ्लैटों की रजिस्ट्री शुरू होगी। लोगों को अपने घरों पर मालिकाना हक मिलेगा। नोएडा प्राधिकण का पहला कैंप सेक्टर-77 में लगेगा।

प्राधिकरण का दावा है कि यदि 66 बिल्डरों ने अपने वायदे के अनुसार 31 मार्च तक अपने बकाये का 25 प्रतिशत पैसा जमा कर दिया तो 24 हजार से अधिक फ्लैटों की रजिस्ट्री अप्रैल माह तक हो जाएंगी, जबकि एक मार्च से ही दस हजार तीन सौ फ्लैटों की रजिस्ट्री शुरू हो रही हैं। यह रजिस्ट्री 17 प्रोजेक्टों में होंगी। इसके लिए रजिस्ट्री विभाग के साथ मिलकर विशेष कैंप लगाकर लोगों को सुविधा दी जा रही है।

जिले में फ्लैटों की रजिस्ट्री की मांग को लेकर लोगों के द्धारा पिछले लंबे समय से आंदोलन चलाया जा रहा था और यह मामला संसद से लेकर विधानसभा में भी उठ चुका था। रजिस्ट्री नहीं तो वोट नहीं का नारा देते हुए फ्लैट खरीदारों ने लंबे समय तक लगातार प्रदर्शन किया। जिसके बाद शासन ने रजिस्ट्री की समस्या के समाधान के लिए अमिताभ कांत समिति का गठन किया था। जिसने विभिन्न सिफारिशें की थी। इन सिफारिशों को प्रदेश शासन ने कुछ शर्तों के साथ कैबिनेट बैठक में मंजूरी दी थी। जिसमें बिल्डरों को जीरो पीरियड का लाभ देते हुए कहा गया था कि उन्हें कुल बकाये का 25 प्रतिशत पैसा प्राधिकऱण में जमा करना होगा, जिसके बाद उसी अनुपात में रजिस्ट्री शुरू होंगी।

इसका शासनादेश भी जारी हुआ था, इसको लेकर बिल्डरों के साथ प्राधिकरण के अधिकारियों की बैठकें हुई थी और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में बड़ी संख्या में बिल्डरों ने शर्तों को स्वीकार करते हुए बकाया धनराशि जमा करते रजिस्ट्री के लिए सहमति दी थी। ग्रुप हाउसिंग के ओएसडी सौम्य श्रीवास्तव ने बताया कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण क्षेत्र के 17 प्रोजेक्ट के बिल्डरों ने पैसा जमा करा करा दिया है, जिनके प्रोजेक्टों की दस हजार से अधिक रजिस्ट्री वह शुक्रवार से खोल रहे हैं।

इन 17 बिल्डरों में से आठ बिल्डर ऐसे हैं, जिन्होंने अपने बकाये का शत-प्रतिशत पैसा प्राधिकऱण में जमा करा दिया है। जबकि नौ बिल्डर ऐसे हैं, जिन्होंने अपने कुल बकाये 149 करोड़ का 25 प्रतिशत करीब 35 करोड़ रुपया जमा करा दिया है। इन प्रोजेक्टों में रजिस्ट्री आज से होने जा रही हैं। इसके अतिरिक्त ग्रेटर नोएडा प्राधिकऱण क्षेत्र के 66 अन्य बिल्डरों पर करीब 26 सौ करोड़ का बकाया है, जिसका 25 प्रतिशत 598 करोड़ रुपया 31 मार्च तक जमा कराने के लिए बिल्डरों ने सहमति दे दी है और इसके बाद इन प्रोजेक्टों में 14 हजार 595 रजिस्ट्री और हो सकेंगी। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में कुल 24 हजार से अधिक फ्लैटों की रजिस्ट्री होंगी और इन फ्लैटों के खरीददारों को अपने फ्लैटों का मालिकाना हक मिलेगा। 

इन प्रोजेक्टों में रजिस्ट्री शुरू

जिन प्रोजेक्टों में रजिस्ट्री शुरू हो रही हैं, उनमें कैपिटल इंफ्राटैक, अल्पाइन, शिरजा , हैबिटेट, निराला, पूर्वांचल, पंचशील, एसजेपी, रतन, श्रीधरा, स्टार सिटी, कामरूप, गुलशन, विलगेरिया, ट्राइडेंट, गुलशन होम्स आदि प्रमुख हैं। 

1200 फ्लैटों की रजिस्ट्री इसी माह होने की उम्मीद

नोएडा प्राधिकरण में भी आज से रजिस्ट्री की शुरुआत होगी। प्राधिकरण में 37 बिल्डरों ने अपने बकाये का 25 प्रतिशत पैसा जमा कराने के लिए सहमति दे दी है और नौ प्रोजेक्टों में एक मार्च से रजिस्ट्री भी शुरू हो रही है। नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों के अनुसार 12 सौ फ्लैट मालिकों की रजिस्ट्री प्राधिकरण के द्वारा इसी माह में करा दी जाएगी, जबकि सहमति देने वाले 37 बिल्डरों के द्वारा बकाये का 25 प्रतिशत पैसा जमा करने पर 13 हजार से अधिक फ्लैटों की रजिस्ट्री होंगी। नोएडा प्राधिकरण क्षेत्र के एक्सप्रेस बिल्डर,एम्स प्रमोटर लिमिटेड, आईआईटीएल निम्बस हाइड पार्क, प्रतीक फैडोरा, एपेक्स एथिना, गुलशन होम्स, डिवाइन मैडोज, कैपिटल इंफ्रा, गोल्डन होम्स में रजिस्ट्री एक मार्च से शुरू होंगी। रजिस्ट्री के लिए पहला कैंप नोएडा प्राधिकरण के द्वारा सेक्टर 77 में स्थित एक्सप्रेस बिल्डर एंड प्रमोटर्स के परिसर में लगाया जा रहा है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें