ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRअर्द्धसैनिक बलों के लिए गुड न्यूज, जवानों के लिए जेवर एयरपोर्ट के अंदर बनेंगे 4500 घर

अर्द्धसैनिक बलों के लिए गुड न्यूज, जवानों के लिए जेवर एयरपोर्ट के अंदर बनेंगे 4500 घर

जेवर में बन रहे एयरपोर्ट पर सुरक्षाकर्मियों की तैनाती का खाका तैयार किया जा रहा है। एयरपोर्ट की सुरक्षा में पुलिस और सीआईएसएफ समेत अर्द्धसैनिक बल के करीब 8500 सुरक्षाकर्मियों की तैनाती रहेगी।

अर्द्धसैनिक बलों के लिए गुड न्यूज, जवानों के लिए जेवर एयरपोर्ट के अंदर बनेंगे 4500 घर
Praveen Sharmaग्रेटर नोएडा। हिन्दुस्तानTue, 28 May 2024 12:55 PM
ऐप पर पढ़ें

अर्द्धसैनिक बलों के जवानों के लिए गुड न्यूज है। जेवर में बन रहे नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सुरक्षाकर्मियों की तैनाती का खाका तैयार किया जा रहा है। एयरपोर्ट की सुरक्षा में पुलिस और सीआईएसएफ समेत अर्द्धसैनिक बल के करीब 8500 सुरक्षाकर्मियों की तैनाती रहेगी। इनमें 4500 सीआईएसएफ के सुरक्षाकर्मी रहेंगे, जिनके रहने का बंदोबस्त एयरपोर्ट परिसर में ही किया जाएगा। इसके लिए उनके लिए अलग से एक कमरे का फ्लैट बनेगा।

फ्लैट में परिवार को साथ नहीं रख सकेंगे जवान

यमुना प्राधिकरण के सीईओ डॉ. अरुणवीर सिंह ने बताया कि यहां की सुरक्षा को लेकर तैयारी शुरू हो गई है। इस एयरपोर्ट की अंदरूनी सुरक्षा में 8,500 सुरक्षाकर्मी लगाए जाएंगे। जिनमें से 4,500 सीआईएसएफ के जवान होंगे। अब फैसला लिया गया है कि इन 4,500 सीआईएसएफ जवानों के रहने का इंतजाम एयरपोर्ट परिसर के अंदर ही होगा। जवान अकेले ही फ्लैट में रह सकते हैं। अगर उसके बावजूद कोई सुरक्षकर्मी अपने परिवार के साथ रहना चाहता है तो उसको एयरपोर्ट परिसर के बाहर रहने का इंतजाम करना होगा। अंदर परिवार के साथ रहने की इजाजत नहीं मिलेगी। यह फैसला एयरपोर्ट की सुरक्षा की दृष्टि से लिया गया है।

मुख्य सचिव 2 जून को एयरपोर्ट की समीक्षा करेंगे : उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र रविवार 2 जून को जेवर एयरपोर्ट की समीक्षा करने के लिए आएंगे। बता दें कि जेवर एयरपोर्ट पर सितंबर से विमानों की उड़ान प्रस्तावित है। यहां अब फ्लाइंग उपकरण लगाए जा रहे हैं। ऐसे में उनका यह दौरा काफी अहम रहेगा। जून से एयरपोर्ट पर ट्रायल रन शुरू होने की भी तैयारी की जा रही है। डेवलपर कंपनी तेजी से एयरपोर्ट का प्रथम चरण का कार्य खत्म करने पर बल दे रही है। इसके अलावा कनेक्टिविटी को लेकर भी काम चल रहा है।