ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRमाता शीतला के भक्तों के लिए गुडन्यूज, नगर निगम ने बनाया नया डिजाइन; क्या-क्या होगा खास

माता शीतला के भक्तों के लिए गुडन्यूज, नगर निगम ने बनाया नया डिजाइन; क्या-क्या होगा खास

Sheetla Mata Mandir: शीतला माता के लाखों श्रद्धालुओं के लिए गुडन्यूज है। नगर निगम ने माता मंदिर के निर्माण को लेकर नया डिजाइन तैयार कर लिया है। मंजूरी के लिए इसे निगमायुक्त के पास भेजा जाएगा।

माता शीतला के भक्तों के लिए गुडन्यूज, नगर निगम ने बनाया नया डिजाइन; क्या-क्या होगा खास
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,गुरुग्रामTue, 18 Jun 2024 12:43 PM
ऐप पर पढ़ें

शीतला माता के लाखों श्रद्धालुओं के लिए राहत भरी खबर है। नगर निगम ने माता मंदिर के निर्माण को लेकर नया डिजाइन तैयार कर लिया है। निगमायुक्त की अनुमति मिलने के बाद अब डिजाइन को अंतिम अनुमति के लिए मुख्यालय प्रस्ताव भेजा गया है। सरकार से अनुमति मिलने के बाद एजेंसी को दोबारा से मंदिर का निर्माण नए डिजाइन के अनुसार शुरू करना होगा। बीते करीब छह साल से श्रद्धालु माता के गर्भ गृह में विराजमान होने का इंतजार कर रहे हैं। अभी मंदिर निर्माण का कार्य बंद है। 

निगम ने मंदिर के डिजाइन में भी बदलाव किया है। बता दें कि 2016 में श्री शीतला माता मंदिर के निर्माण के लिए माता के मुख्य गर्भगृह को तोड़ दिया गया था। उस समय छोटे स्तर पर ही मंदिर निर्माण करने की योजना तैयार की गई थी, लेकिन मामला जब तत्कालीन मुख्यमंत्री मनोहर लाल तक पहुंचा तो उन्होंने माता मंदिर को भव्य बनाने के निर्देश दिए। इसके बाद से मंदिर निर्माण को लेकर कई बार डिजाइन आदि में बदलाव किए गए हैं। मंदिर का निर्माण अब दो फेज में किया जाना है।

गुरुग्राम नगर निगम के निगमायुक्त डॉ नरहरि सिंह बांगड़ ने कहा, 'माता मंदिर के डिजाइन को बदला गया है। डिजाइन को फाइनल करके मुख्यालय को अनुमति के लिए प्रस्ताव भेजा गया है। मुख्यालय से अनुमति मिलने के बाद इसका निर्माण कार्य शुरू करवाया जाएगा।'

निकाय मंत्री को पसंद नहीं आया था डिजाइन

तत्कालीन शहरी स्थानीय निकाय मंत्री डॉ कमल गुप्ता को माता मंदिर का डिजाइन पसंद नहीं आया था। माता मंदिर का डिजाइन मंत्री को जब दिखाया गया जब माता मंदिर का निर्माण 10 से 20 फीसदी तक पूरा हो चुका था। इसके बाद मंत्री ने दोबारा से माता मंदिर का डिजाइन तैयार करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद माता मंदिर का निर्माण बंद पड़ा हुआ है।

गुंबद की ऊंचाई को घटाया

मंदिर के पुननिर्माण की योजना में पहले माता मंदिर के गर्भ गृह के गुंबद को कुतुब मीनार से भी ऊंचा बनाने की योजना थी। बैठक में निगम अफसरों ने एजेंसी को गुंबद की ऊंचाई 74 मीटर की बजाय 55 मीटर करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा मंदिर में प्रवेश के लिए अलग से प्रवेश द्वार बनेगा। उसमें दाएं और बाएं से श्रद्धालू मंदिर में प्रवेश कर सकेंगे।

Advertisement