ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRबेटी की शादी के लिए कमाने आए थे विनोद, गोकुलपुरी मेट्रो स्टेशन हादसे में गई जान; CRS के हवाले जांच

बेटी की शादी के लिए कमाने आए थे विनोद, गोकुलपुरी मेट्रो स्टेशन हादसे में गई जान; CRS के हवाले जांच

गोकुलपुरी मेट्रो स्टेशन हादसे में जान गंवाने वाले विनोद कुमार पांडेय अपनी छोटी बेटी की शादी के लिए पैसे कमाने यूपी से दिल्ली आए थे। हादसे के वक्त चावल की आपूर्ति करने और पैसे लेने जा रहे थे।

बेटी की शादी के लिए कमाने आए थे विनोद, गोकुलपुरी मेट्रो स्टेशन हादसे में गई जान; CRS के हवाले जांच
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 09 Feb 2024 06:29 AM
ऐप पर पढ़ें

गोकुलपुरी मेट्रो स्टेशन पर हुए हादसे में मारे गए विनोद कुमार पांडेय अपनी छोटी बेटी की शादी की तैयारी में जुटे थे। गत 25 जनवरी को बेटी की सगाई हुई थी। अक्तूबर में शादी के लिए वह पैसे कमाने दिल्ली आए थे, लेकिन हादसे का शिकार हो गए। विनोद कुमार उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर स्थित लमहुआ पांडेयपुर के मूल निवासी थे। वह दिल्ली के करावल नगर में 25 वर्षीय बेटे सागर के साथ रहते थे। एक निजी कंपनी में सेल्समैन का काम करते थे और हादसे के वक्त चावल की आपूर्ति करने और पैसे लेने जा रहे थे। बेटे ने स्नातक किया है और वह पिता का सहयोग करता था। इसके अलावा परिवार में पत्नी पुष्पा और दो बेटियां अंकिता और स्वीटी हैं। अंकिता की शादी हो चुकी है, जबकि स्वीटी की अक्तूबर में शादी होनी थी। स्वीटी मां के साथ गांव में ही रहती है।

जीटीबी अस्पताल में घायलों का उपचार जारी

जीटीबी अस्पताल के डॉक्टर से मिली जानकारी के अनुसार पांच लोगों को इमरजेंसी में लाया गया था। इसमें से एक को मौत हो चुकी थी, जबकि चार लोगों को चोट लगी थी। सभी को प्राथमिक उपचार दिया गया है। डॉक्टर की टीम घायलों के उपचार में जुटी है। हादसे को लेकर चारों सहमे हुए हैं। सभी को पैर में चोट आई है। किसी के दाएं पैरे तो किसी के बाएं में चोट लगी है। पैर की हड्डी भी टूट गई है।

पुलिस स्टेशन तक सुनाई दी गिरने की आवाज

स्थानीय लोगों ने बताया कि जैसे ही दीवार सड़क पर गिरी, तेज धड़ाम जैसी आवाज आई। आसपास के इलाके में मौजूद लोगों को आवाज ने चौंका दिया। इससे लोगों में अफरा-तफरी का माहौल बन गया। मेट्रो स्टेशन से कुछ ही दूरी पर स्थित गोकलपुरी पुलिस स्टेशन के पुलिसकर्मियों को भी इसकी आवाज सुनाई दी। आवाज सुनकर पुलिसकर्मी भी मौके पर पहुंच गए थे। इसके बाद उन्होंने पूरी घटना की जानकारी आला अधिकारियों की दी।

सीएमआरएस करेंगे घटना की जांच

दिल्ली मेट्रो ने घटना की रिपोर्ट मेट्रो रेल सुरक्षा आयुक्त (सीएमआरएस) को भेज दी है। घटना कैसे हुई और किसकी खामी से हुई, उसकी जांच सीएमआरएस करेंगे। मेट्रो ने भी अपनी आंतरिक टीम बनाई है, जो जांच कर रही है। घटना के लिए जिम्मेदार लोगों को जांच होने तक निलंबित कर दिया गया ह्रै। दिल्ली मेट्रो का यह कॉरीडोर पूरे नेटवर्क में सबसे नया है। इसका उद्घाटन 2017-18 में हुआ था। यह मेट्रो नेटवर्क का सबसे लंबा करीब 59 किलोमीटर का कॉरीडोर है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें