ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRरेलिंग के सहारे खड़े होते यात्री तो जा सकती थी और भी जानें, गोकुलपुरी मेट्रो स्टेशन हादसे पर कई सवाल; ठेकेदार पर केस

रेलिंग के सहारे खड़े होते यात्री तो जा सकती थी और भी जानें, गोकुलपुरी मेट्रो स्टेशन हादसे पर कई सवाल; ठेकेदार पर केस

गोकुलपुरी में मेट्रो स्टेशन की साइड वॉल का एक हिस्सा भरभराकर सड़क पर गिर गया। इस हादसे ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। अगर स्टेशन की रेलिंग के पास यात्री खड़े होते तो और जानें जा सकती थी।

रेलिंग के सहारे खड़े होते यात्री तो जा सकती थी और भी जानें, गोकुलपुरी मेट्रो स्टेशन हादसे पर कई सवाल; ठेकेदार पर केस
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 09 Feb 2024 05:57 AM
ऐप पर पढ़ें

गोकुलपुरी मेट्रो स्टेशन पर गुरुवार को हुए हादसे ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। अगर स्टेशन की रेलिंग के पास यात्री खड़े होते तो घायल और मरने वालों की संख्या ज्यादा हो सकती थी। मेट्रो कॉरिडोर निर्माण की गुणवत्ता और रखरखाव को लेकर भी सवाल उठाए जा रहे हैं। मेट्रो में पहली बार इस तरह का हादसा हुआ है। सबसे बड़ा सवाल यही है कि मेट्रो नेटवर्क के सबसे नए कॉरीडोर जिसपर परिचालन 2018 में शुरू हुआ था, उसके प्लेटफॉर्म की रेलिंग और छज्जा छह साल में ही कैसे गिर गया? हादसे के समय मेट्रो का परिचालन हो रहा था। वर्ष 2002 से मेट्रो का परिचालन हो रहा है। ऐसे में हादसे के बाद मेट्रो के पूरे कॉरीडोर के निर्माण, गुणवत्ता और स्टेशन के रखरखाव पर सवाल उठना लाजिमी है।

सभी स्टेशनों की सुरक्षा जांच होगी 

हादसे के बाद दिल्ली मेट्रो प्रबंधन की नींद टूट गई है। प्रबंध निदेशक ने हादसे के बाद मेट्रो के सभी संबंधित विभाग से पूरे दिल्ली मेट्रो नेटवर्क की सुरक्षा जांच शुरू करने को कहा है। उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देश जारी किया कि सभी स्टेशनों पर सिविल, इलेक्ट्रिकल से लेकर अन्य चीजों की गहन सुरक्षा जांच की जाए।

दो सप्ताह में रिपोर्ट दे डीएमआरसी

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने घटना पर दुख जताया है। उन्होंने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं। साथ ही डीएमआरसी को विशेषज्ञों की समिति का गठन करके दो सप्ताह में हादसे की रिपोर्ट मांगी है। गहलोत ने कहा कि यह बेहद चिंता का विषय है कि एक स्टेशन के प्लेटफार्म का छज्जा नीचे गिर पड़ा है। उन्होंने पीड़ितों को 24 घंटे के अंदर आर्थिक मदद देने का भी निर्देश दिया।

ठेकेदार पर मामला दर्ज

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक हादसे को लेकर मेट्रो के ठेकेदार के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। उन पर निर्माण कार्य में लापरवाही के चलते मौत और आम लोगों के जीवन को खतरे में डालने संबंधित धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

एक लाइन पर परिचालन

दिल्ली मेट्रो ने हादसे के बाद उस प्लेटफार्म पर यात्रियों की आवाजाही बंद कर दी है। शिव मौजपुर, गोकुलपुरी, जौहरी एनक्लेव और शिव विहार के बीच सिंगल लाइन पर परिचालन किया जा रहा है। हालांकि, पिंक लाइन के बाकी कॉरीडोर पर सामान्य परिचालन किया जा रहा है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें