DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्रा खुदकुशी: प्रिंसिपल की गिरफ्तारी की मांग को लेकर धरना पर बैठे पीड़ित परिवार को पुलिस ने सड़क से हटाया - VIDEO

धरने से लगा जाम

1 / 2धरने से लगा जाम

एल्कॉन पब्लिक स्कूल

2 / 2एल्कॉन पब्लिक स्कूल

PreviousNext

एल्कॉन पब्लिक स्कूल में पढ़ रही नौवी कक्षा की छात्रा की खुदकुशी के बाद आरोपी टीचर और स्कूल के प्रिंसिपल की गिरफ्तारी की मांग जोर पकड़ती जा रही है। इसको लेकर नोएडा-दिल्ली रोड पर धरने पर बैठे पीड़ित परिवार और प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने हटा दिया है। जिसके बाद सड़कों पर लगा लंबा जाम अब धीरे-धीरे खत्म होने की उम्मीद है।

इससे पहले, गुरूवार की दोपहर पीड़ित परिवार के धरने पर बैठने के चलते दिल्ली-नोएडा फ्लाईओवर पर करीब 9 किलोमीटर लंबा जाम लग गया। जाम में स्कूल के बच्चे भी फंसे थे। इंसाफ की  गुहार लगाते मां-बाप की मांग है कि इस केस की सीबीआई जांच की जानी चाहिए। छात्रा के माता-पिता के अलावा और बच्चों के पैरेंट्स भी स्कूल के बाहर सड़क पर प्रदर्शन कर रहे हैं। हाथ में बैनर लिए परिवार वालों की मांग है कि स्कूल की मान्यता भी रद्द की जाए। 

वहीं गुस्साए परिजनों का आरोप है कि इस मामले के सामने आने के बाद भी स्कूल की तरफ से ना कोई टीचर, ना मैंनेजमेंट का कोई शख्स, कोई भी उनसे बात करने नहीं आया है। इतना प्रदर्शन करने बाद भी कोई उनकी बात नहीं सुन रहा है। हम चाहते हैं कि हमारी बेटी का न्याय मिले।  वहीं नोएडा के एसपी सिटी का कहना है कि गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान में कई बच्चे फेल हुए हैं इसलिए अभी इस बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता कि छात्रा को जानबूझकर फेल किया गया है या नहीं। या परीक्षा में छात्रा में जवाब पास होने लायक थे भी या नहीं। मामले की जांच की जा रही है। 

प्रिसिंपल ने दी ये सफाई :

प्रिसिंपल का कहना है कि स्कूल प्रशासन लड़की परिवार के साथ है। अगर हम छात्रा के रिकॉर्ड पर नजर डालें तो वो एक एवरेज स्टूडेंट थी थी। वो पढ़ाई में बहुत अच्छी नहीं थी हां लेकिन वो एक बहतरीन डांसर जरूर थी। पीटीएम( PTM) में बच्चों के परीक्षा के मार्क्स बताए जाते हैं लेकिन छात्रा के माता-पिता पीटीएम में नहीं आए। छात्रा को फेल नहीं किया गया था बल्कि उसे दोबारा टेस्ट देना था।

प्रिंसिपल ने कहा कि जो जिन दो टीचर्स पर आरोप लगाए गए हैं उनमें से एक टीचर तो महिला है, एक महिला टीचर कैसे किसी लड़की का शारीरिक शोषण कर सकती है, ये कैसे मुमकिन है। बाकी जो दूसरे टीचर हैं वो पिछले 25 सालों से इस स्कूल में काम कर रहे हैं और इतने सालों में हमने कभी उनके खिलाफ ऐसी कोई शिकायत नहीं सुनी।

इन धाराओं के तहत टीचर्स पर दर्ज हुआ केस :

बता दें कि बुधवार को एल्कॉन पब्लिक स्लूक की 9 क्लास में पढऩे वाली छात्रा की खुदकुशी का मामला सामने आया था। पीड़ित छात्रा के परिवार की शिकायत पर पुलिस ने प्रिंसिपल और दो टीचर के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। नोएडा सेक्टर 24 के थानाध्यक्ष अखिलेश त्रिपाठी ने कहा, पैरेन्ट्स की तरफ से मिली शिकायत के बाद हमने दो आरोपी टीचर्स के खिलाफ सुसाइड के लिए उकसाने, आपराधिक कृत्य और यौन उत्पीड़ने के चलते भारतीय दंड संहिता की धारा 306, 506 और 354 के तहत केस दर्ज किया है।

वहीं इस मामले  के मीडिया में आते ही नोएडा के SSP ने जांच अधिकारी को सस्पेंड कर दिया है। नोएडा सेक्टर 24 के एसएचओ अखिलेश त्रिपाठी ने बताया कि कॉन्स्टेबल क्लर्क निरपेंदर को गलत IPC धाराओं के तहत केस दर्ज करने के चलते सस्पेंड किया गया है।

पिता ने कहा डरी हुई थी बेटी :

पीड़ित छात्रा की पिता का कहना है कि उसे स्कूल के दो शिक्षक लगातार यौन उत्पीड़न कर रहे थे और परीक्षा में फेल होने की धमकी दी थी उसने हमें बताया कि SST के टीचर ने उसे गलत तरीके से छूआ था। क्योंकि मैं खुद भी एक टीचर हूं मैंने उसे कहा कि हो सकता है गलती से टीचर ने तुम्हें छूआ हो। लेकिन उसने कहा कि वो बहुत डरी हुई है वो परीक्षा में कितना भी अच्छा लिखेगी वो लोग उसे फेल कर देंगे। और आखिर में उसे SST में फेल ही कर दिया गया। जिसके बाद वो इतने दबाव में आ गई कि उसने जान दे दी।

छात्रा सुसाइड: पैरेन्ट्स ने लगाए स्कूल में यौन उत्पीड़न के आरोप -VIDEO

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Girl Commited suicide in Ahlcon Public School parents protest and Demand for CBI Inquiry