ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदिल्ली सरकार के मोहल्ला क्लीनिक में 'घोस्ट' मरीज, 65 हजार फर्जी टेस्ट; ACB की जांच में ऐसे हुआ खुलासा

दिल्ली सरकार के मोहल्ला क्लीनिक में 'घोस्ट' मरीज, 65 हजार फर्जी टेस्ट; ACB की जांच में ऐसे हुआ खुलासा

प्राथमिक जांच में मोहल्ला क्लीनिक के माध्यम से होने वाली जांच में बड़ी गड़बड़ी मिली है। बिना मरीज के ही हजारों मेडिकल जांच करने के साक्ष्य मिले हैं।

दिल्ली सरकार के मोहल्ला क्लीनिक में 'घोस्ट' मरीज, 65 हजार फर्जी टेस्ट; ACB की जांच में ऐसे हुआ खुलासा
Swati Kumariहिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 03 Feb 2024 09:45 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली में मोहल्ला क्लीनिकों पर लगे फर्जीवाड़े के आरोपों के बीच भ्रष्टाचार निरोधक शाखा (एसीबी) की जांच में कई नए खुलासे हुए हैं। दो मेडिकल लैब ने 63 फीसदी लोगों की जांच बिना मोहल्ला क्लीनिक गए ही कर दी। इनमें एक ही मोबाइल नंबर पर कई मरीजों की जांच दिखा दी गई। 

एसीबी सूत्रों ने बताया कि प्राथमिक जांच में मोहल्ला क्लीनिक के माध्यम से होने वाली जांच में बड़ी गड़बड़ी मिली है। बिना मरीज के ही हजारों मेडिकल जांच करने के साक्ष्य मिले हैं। इनमें दो निजी लैब एग्लिस डायग्नोस्टिक और मेट्रोपोलिस हेल्थकेयर शामिल हैं। इन पर मोहल्ला क्लीनिक में आने वाले मरीजों की जांच की जिम्मेदारी थी। पिछले वर्ष फरवरी से दिसंबर के बीच दोनों लैब द्वारा कुल 22 लाख मेडिकल जांच की गईं, जिनके लिए इन्हें 4.63 करोड़ रुपये का भुगतान हुआ है। इनमें से 65 हजार जांचों में फर्जीवाड़ा पाया गया है। ये जांच 100 से  लेकर 300 रुपये तक की हैं।  

कई मोबाइल नंबर गलत निकले 
एसीबी को पता चला कि इन फर्जी जांच में जिन 63 फीसदी लोगों को दिखाया गया है, वे कभी मोहल्ला क्नीनिक गए ही नहीं। शाखा ने जब जांच के साथ दर्ज मोबाइल नंबरों पर कॉल किया तो कई नंबर गलत निकले। इसके अलावा कुछ नंबरों पर बताया गया कि उन्होंने कोई जांच नहीं करवाई है। शाखा को यह भी पता चला कि लैब मैनेजमेंट इंफोर्मेशन सिस्टम (जिसमें मरीजों का नाम और मोबाइल नंबर रखा जाता है) भी दोनों लैब द्वारा चलाए जा रहे थे। इसके चलते इसमें गड़बड़ी की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता। 

ये गड़बड़ियां मिलीं 
एग्लिस डायग्नोस्टिक 

12457 जांच में कोई भी मोबाइल नंबर नहीं मिला 
25732 जांच में मोबाइल नंबर 0 लिखा गया  
1,2,3,4,5 से शुरू हुए फर्जी मोबाइल नंबर पर 913 जांच की गईं
2467 रोगियों के लिए वही नंबर डाला गया, जिनका इस्तेमाल 80 से अधिक बार किया जा चुका था 

मेट्रोपोलिस हेल्थकेयर 
6121 जांच में मरीजों के लिए मोबाइल नंबर 9999999999 इस्तेमाल किया गया, जो फर्जी नंबर है
2399 जांच एक ही मोबाइल नंबर पर की गई, लेकिन इस मोबाइल धारक ने कभी जांच नहीं कराई
11350 जांच ऐसे मोबाइल नंबरों पर की गई, जिनका इस्तेमाल 130 से अधिक बार अलग-अलग मरीजों के लिए किया गया 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें