DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गाजियाबाद : पासपोर्ट ऑफिस कर्मचारियों ने की हड़ताल, आवेदक परेशान, दोबारा लेना होगा अप्वॉइंटमेंट

Passport Office Ghaziabad

पिछले कई दिनों से लगातार काली पट्टी बांधकर विरोध जता रहे गाजियाबाद पासपोर्ट ऑफिस के कर्मचारियों ने गुरुवार को सुबह अचानक काम बंद कर दिया। इसके चलते यहां अपना पासपोर्ट बनवाने आए आवेदकों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। महाराजपुर में बने पासपोर्ट सेवा केंद्र में भी पासपोर्ट कर्मचारियों ने काम बंद कर दिया हैं। फिलहाल निजी कंपनी के कर्मचारी ही यहां काम कर रहे हैं।

जानकारी के अनुसार, गाजियाबाद पासपोर्ट ऑफिस में 13 जिलों के पासपोर्ट बनाए जाते हैं, जिसमें आगरा और सहारनपुर भी शामिल हैं। पासपोर्ट ऑफिस के कर्मचारी लंबे समय से कार्यालय में खाली पदों को भरने व काम के अनुसार अतिरिक्त स्टाफ लगाने की मांग कर रहे हैं। इसके साथ ही कर्मचारियों का कहना है कि उनको विदेश मंत्रालय के अधीन किया जाए ताकि कर्मचारियों की वेतन विसंगतियां दूर हो सकें।

इन मांगों को लेकर कर्मचारी मंगलवार से दिल्ली मुख्यालय पर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठे हैं। आरोप है कि दो दिन भूख हड़ताल पर बैठने के बाद भी विदेश मंत्रालय के किसी भी अधिकारी ने कर्मचारियों से आकर बात तक नहीं की। जिसके परिणामस्वरूप गुरुवार को अचानक कर्मचारी यूनियन ने काम बंद कर हड़ताल की घोषणा कर दी। 

गाजियाबाद रीजनल पासपोर्ट कार्यालय व पासपोर्ट सेवा केंद्र के सभी कर्मचारी काम बंद करके सड़कों पर आ गए और जमकर नारेबाजी की। कर्मचारियों का कहना है कि जब तक उनकी मांगों को लेकर कोई आश्वासन नहीं दिया जाता, तब तक किसी भी पासपोर्ट कार्यालय में काम शुरू नहीं होगा। 

वहीं इस हड़ताल के कारण पासपोर्ट कार्यालय में आए आवेदकों को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है। आवेदकों ने अपने आवेदन फॉर्म जमा करने व पूछताछ के लिए पहले से ही अप्वॉइंटमेंट लिया हुआ था। हड़ताल के कारण इन आवेदकों को अब दोबारा अप्वॉइंटमेंट लेना पड़ेगा। नए सिरे से अप्वॉइंटमेंट लेने के लिए अब इन आवेदकों को 15 से 20 दिन का समय और लगेगा।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ghaziabad: Passport office employees strike applicant facing trouble