ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRमेट्रो रेड लाइन से जुड़ेगा पुराना रेलवे स्टेशन, यूपी सरकार ने बनाया प्लान; 20 हजार को मिलेगा फायदा

मेट्रो रेड लाइन से जुड़ेगा पुराना रेलवे स्टेशन, यूपी सरकार ने बनाया प्लान; 20 हजार को मिलेगा फायदा

गाजियाबाद के पुराना रेलवे स्टेशन को मेट्रो रेड लाइन से जोड़ा जाएगा। मेट्रो की रेड लाइन गाजियाबाद में शहीद स्थल नया बस अड्डा पर आकर खत्म हो जाती है। यूपी सरकार के बजट से इस परियोजना को रफ्तार मिलेगी।

मेट्रो रेड लाइन से जुड़ेगा पुराना रेलवे स्टेशन, यूपी सरकार ने बनाया प्लान; 20 हजार को मिलेगा फायदा
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,गाजियाबादTue, 06 Feb 2024 05:49 AM
ऐप पर पढ़ें

 

यूपी सरकार के बजट में रोपवे के लिए बजट की व्यवस्था होने से मेट्रो रेड लाइन को पुराना रेलवे स्टेशन से रोपवे के जरिये जोड़ने के ठंडे पड़े प्रोजेक्ट को रफ्तार मिल सकती है। मेट्रो की रेड लाइन गाजियाबाद में शहीद स्थल नया बस अड्डा पर आकर खत्म हो जाती है। इसके बाद यात्रियों को जीटी रोड के सड़क मार्ग से पुराना रेलवे स्टेशन तक जाना पड़ता है। इस कारण जीटी रोड पर जाम की समस्या रहती है। इस समस्या को लेकर लोगों ने केंद्रीय मंत्री वीके सिंह से रेलवे स्टेशन को नया बस अड्डा से जोड़ने की मांग उठाई थी।

नेशनल हाइवे लॉजिस्टिक मैनेजमेंट (एनएचएलएम) को इस रूट पर रोपवे चलाने के लिए सर्वे कर डीपीआर तैयार कराई। ताकि इस रूट को रोपवे से जोड़ा जा सके, लेकिन फंड की कमी के कारण यह प्रोजेक्ट बीच में ही रुक गया। अब बजट में रोपवे के लिए 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था होने से इस प्रोजेक्ट के परवान चढ़ने की उम्मीद बढ़ गई है। वहीं, जीडीए ने पूर्व में हुई बोर्ड बैठक में चार रूट पर रोपवे चलाए जाने का अप्रूवल मांगा था। 

यह रूट वैशाली से मोहननगर, नोएडा सेक्टर 62 से साहिबाबाद, नया बस अड्डा मेट्रो स्टेशन से रेलवे स्टेशन और हिंडन रिवर मेट्रो स्टेशन से राजनगर एक्सटेंशन के बीच के थे। बोर्ड बैठक में पहले दो रूट का प्रस्ताव यह कहते हुए खारिज कर दिया था कि मेट्रो रूट के बीच में किसी अन्य परिवाहन के साधन को चलाया जाना उचित नहीं है।

लोगों को होगा लाभ

रेलवे स्टेशन को मेट्रो से जोड़ने के लिए रोपवे को महामाया स्टेडियम के पीछे की हरित पट्टी और रेलवे लाइन के किनारे पिलर बनाकर पहुंचाया जा सकता है। अगर रेलवे स्टेशन को मेट्रो से जोड़ दिया जाता है तो रोजाना यहां आने-जाने वाले 20 हजार से अधिक यात्रियों को इसका फायदा मिलेगा। जीटी रोड पर ट्रैफिक का दबाव कम हो जाएगा। इसके स्टेशन तक विस्तार से दिल्ली के दिलशाद गार्डन, शाहदरा, यूपी बॉर्डर के शालीमार गार्डन, लोनी, राजेंद्रनगर, शहीद पार्क, मोहननगर, हिंडन एयरबेस में रहने वाले लोगों को भी इसका सीधा फायदा मिलेगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें