DA Image
1 जून, 2020|1:55|IST

अगली स्टोरी

गाजियाबाद के कोरोना संदिग्ध संतोष मेडिकल कॉलेज में होंगे क्वारंटाइन, जिला प्रशासन ने किया अस्पताल का अधिग्रहण

coronavirus in spain   ap

गाजियाबाद से सामने आ रहे कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए संदिग्ध मरीजों को क्वारंटाइन करने के लिए गाजियाबाद जिला प्रशासन ने शहर के संतोष मेडिकल कॉलेज का अधिग्रहण किया है। इस अस्पताल में एक साथ 150 से ज्यादा संदिग्ध मरीजों को रखा जा सकेगा। इसके साथ ही एमएमजी अस्पताल में बने आइसोलेशन वार्ड में बेड की संख्या को दो गुना किया जाएगा।

कोरोना वायरस से मौत पर कैसे होगा अंतिम संस्कार, सरकार ने बनाए नियम

इस वायरस से संदिग्ध मरीजों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। संदिग्ध लोगों को जांच के साथ 14 दिनों तक क्वारंटाइन करने के निर्देश हैं। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग के पास कोई बड़ा स्थान नहीं है। पिछले दिनों शासन की ओर से भी पूछा गया था कि शहर में किसी ऐसे स्थान की व्यवस्था की जाए यहां बड़ी संख्या में संदिग्ध मरीजों को क्वारंटाइन किया सके। उसके बाद से प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग ऐसे स्थान की तलाश में थे। गुरुवार को जिला मुख्यालय में हुई एक बैठक में स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट पर इस काम के लिए प्रशासन ने पुराना बस अड्डा के पास स्थित संतोष मेडिकल कॉलेज का अधिग्रहण किया है। इसके साथ ही सभी प्राइवेट अस्पतालों व नर्सिंग होम में भी बेड आरक्षित करने के साथ ही डॉक्टरों को अवकाश पर न जाने के निर्देश दिए गए हैं।

सात बेड तैयार, 150 की तैयारी

सीएमओ डॉ. एनके गुप्ता ने बताया कि संतोष मेडिकल कॉलेज में नीचे के तल पर सात बेड का आइसोलेशन वार्ड तैयार कर दिया गया है। इसके साथ ही अस्पताल के ऊपरी हिस्से में 150 बेड की व्यवस्था की जा रही है। यहां सभी संदिग्ध मरीजों को क्वारंटाइन करने की व्यवस्था की जा सकेगी।

एमएमजी में बढ़ेगे बेड

अभी तक एमएमजी अस्पतास में 20 बेड का आसोलेशन वार्ड बनाया गया है। संदिग्ध मरीजों की संख्या को देखते हुए यह छोटा पड़ रहा है। सीएमओ के मुताबिक, अब यहां बेड की संख्या 60 तक करने की तैयारी की जा रही है। इसके साथ ही संयुक्त जिला अस्पताल में भी बेड बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है।

''पहले चरण में संतोष मेडिकल कॉलेज का अधिग्रहण किया गया है। यहां मेडिकल की सुविधा होने के कारण मरीजों को कोई दिक्कत नहीं होगी। बड़ा अस्पताल होने के कारण इसमें ज्यादा परेशानी भी नहीं होगी।'' -अजय शंकर पांडेय, जिलाधिकारी

शादियों में दिखा सोशल डिस्टेंसिंग का असर, कहीं दो, कहीं चार बारातियों संग दुल्हन लेने पहुंचे दूल्हे

जनपद में कुल 93 मामले अब तक

गाजियाबाद में बुधवार को कोरोना के पांच संदिग्धों के सैंपल जांच के लिए भेजकर आइसोलेट किया गया था, जबकि पीड़ित चिकित्सक के संपर्क में आए सात संदिग्धों समेत 17 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद सभी को डिस्चार्ज कर दिया गया। इसके अलावा नौ संदिग्धों की रिपोर्ट का विभाग को इंतजार है। इसके अलावा जनपद में कोरोना के कुल मामले 93 तक पहुंच गए हैं। इसमें तीन पॉजिटिव और 81 केस निगेटिव आए हैं। वहीं विदेश की यात्रा से लौटे कुल 1045 यात्रियों की निगरानी की जा रही है। इसमें 303 संदिग्ध यात्री क्वारंटाइन का समय पूरा कर चुके हैं, जबकि 742 संदिग्ध आइसोलेशन में हैं। उत्तर प्रदेश में एक विदेशी समेत कोरोना वायरस के अब तक 37 पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं।

भारत में कोरोना पॉजिटिव केसों की संख्या 649 पर पहुंची 

भारत में गुरुवार को कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 649 हो गए और अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, गुजरात, तमिलनाडु और मध्य प्रदेश से एक-एक शख्स की मौत हुई है। मंत्रालय द्वारा तैयार किए गए चार्ट में गोवा पहली बार दिखा और वहां संक्रमण के तीन मामले दर्ज किए गए हैं। मंत्रालय ने सुबह 10 बजकर 15 मिनट पर अपने ताजा आंकड़ों ने कहा कि देश में अभी तक कोविड-19 से 13 लोगों की मौत हो चुकी है। महाराष्ट्र में तीन लोगों की मौत हुई, गुजरात में दो जबकि मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, बिहार, कर्नाटक, पंजाब, दिल्ली, पश्चिम बंगाल और हिमाचल प्रदेश में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना वायरस के सक्रिय मामले 593 हैं जबकि 42 लोग या तो स्वस्थ हो गए या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई और एक व्यक्ति विस्थापित हो गया।  

पूरे उत्तर प्रदेश में कोरोना के सबसे अधिक मरीज नोएडा में, 14 पर पहुंचा आंकड़ा

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ghaziabad district administration acquired Santosh Medical College to quarantine coronavirus suspects