DA Image
23 मई, 2020|7:04|IST

अगली स्टोरी

साइबर बुलिंग : टेलीग्राम के जरिए फैन बनकर आरोपी ने युवती से साधा था संपर्क, फिर कर गया हद पार

साइबर बुलिंग मामले की जांच के दौरान गाजियाबाद पुलिस को कई अहम तथ्य मिले हैं, जिनसे पता चला है कि आरोपी काफी समय से पीड़िता के संपर्क में था और टेलीग्राम ऐप के जरिए उसकी पीड़िता के साथ मैसेज का आदान-प्रदान होता था।

आरोपी पीड़िता का प्रशंसक बनकर संपर्क में आया, लेकिन कुछ दिन के बाद आरोपी ने पीड़िता को धमकाना शुरू कर दिया। शुरू में तो पीड़िता ने उसकी हरकतों को नजरअंदाज किया, लेकिन आरोपी द्वारा हदें पार करने के बाद उसने परिजनों को बताया और पुलिस में शिकायत दी है।

कविनगर थाना प्रभारी मोहम्मद असलम ने बताया कि अभी तक आरोपी के बारे में कोई सुराग नहीं मिला है, लेकिन जिस प्रकार से आरोपी टेलीग्राम ऐप के जरिए पीड़िता से जुड़ा है, इससे जाहिर होता है कि पीड़िता का मोबाइल नंबर पहले से उसके पास था। यहीं नहीं, आरोपी उसके बारे में पूरी जानकारी भी रखता था। इन सब तथ्यों के देखते हुए आशंका है कि आरोपी पीड़िता का कोई जानकार हो सकता है। थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपी के मोबाइल या कंप्यूटर का आईपी एड्रेस पता करने के लिए साइबर सेल से मदद ली जा रही है। 

पीड़िता कराती है ऑनलाइन कोचिंग

पुलिस ने बताया कि पीड़िता ने स्नातक तक की पढ़ाई की है। इसके बाद वह एसएससी व अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रही है। अपना खर्च खुद निकालने के लिए घर बैठे ऑनलाइन कोचिंग कराती है।

पुलिस को स्क्रीनशॉट सौंपा

पीड़िता ने पुलिस को आरोपी द्वारा भेजे गए संदेशों का स्क्रीनशॉट सौंपा है। इसमें से कुछ स्क्रीनशॉट उर्दू व अरबी में भी हैं। इन सभी मैसेज के भाव व भाषा को देखने के बाद पुलिस अनुमान लगा रही है कि आरोपी वयस्क हो सकता है।

''पुलिस मामले की जांच कर रही है। आरोपी का नाबालिग होने का कोई प्रमाण नहीं मिला है। आईपी एड्रेस की पहचान हो जाए तो स्थिति स्पष्ट होगी।'' -कलानिधि नैथानी, एसएसपी

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ghaziabad Cyber bullying Case: accused contacted the girl through Telegram app