ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRGhaziabad : हवस में अंधी हो 3 बच्चों की मां बनी कातिल, अय्याशी में बाधा बन रहे पति को दिलाई खौफनाक मौत

Ghaziabad : हवस में अंधी हो 3 बच्चों की मां बनी कातिल, अय्याशी में बाधा बन रहे पति को दिलाई खौफनाक मौत

हवस में अंधी एक पत्नी ने अवैध संबंध में बाधा बन रहे पति की प्रेमी संग मिलकर खौफनाक तरीके से हत्या करा दी। गाजियाबाद पुलिस ने हत्या की आरोपी पत्नी और उसके प्रेमी समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

Ghaziabad : हवस में अंधी हो 3 बच्चों की मां बनी कातिल, अय्याशी में बाधा बन रहे पति को दिलाई खौफनाक मौत
Praveen Sharmaगाजियाबाद। हिन्दुस्तानSun, 10 Dec 2023 10:01 AM
ऐप पर पढ़ें

गाजियाबाद में हवस में अंधी एक पत्नी ने अवैध संबंध में बाधा बन रहे पति की हत्या करा दी। आरोपी महिला ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर हत्या की खौफनाक साजिश रची। घटना 3 दिसंबर को छिजारसी अंडरपास के नजदीक की है। 4 दिसंबर को युवक का शव झाड़ियों से मिला था। इंदिरापुरम थाना पुलिस ने हत्या के आरोप में मृतक की पत्नी, उसके प्रेमी समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों से हत्या में प्रयुक्त चाकू और ईंट बरामद भी कर ली गई है।

डीसीपी ट्रांस हिंडन शुभम पटेल ने बताया कि मामले में बदायूं के दातागंज में रहने वाली पुष्पा, शाहजहांपुर के मिर्जापुर में रहने वाला शीलेंद्र वाल्मीकि, फर्रुखाबाद के कपिल निवासी शीलेंद्र के फुफेरे भाई नन्हे को गिरफ्तार किया गया है। 11 साल पहले पुष्पा की बृज किशोर से शादी हुई थी। पुष्पा के दो बेटे और एक बेटी है। बृज किशोर करीब पांच साल पहले गांव से परिवार सहित नोएडा सेक्टर-63 में रह रहा था। पुष्पा घरेलू सहायिका और बृज किशोर मजदूर था। शीलेंद्र और नन्हें से दो साल पहले दोस्ती हुई तो बृज किशोर दोनों के साथ एक ही मकान में अलग-अलग कमरों में किराये पर रहने लगा। बृज किशोर शराब पीने का आदी था। इस कारण उसने कई बार शीलेंद्र से रुपये उधार दिए थे।

एक ही मकान में रहने के कारण पुष्पा और शीलेंद्र के बीच अवैध संबंध बन गए। इसका पता चलने पर बृज किशोर ने विरोध किया, लेकिन दोनों नहीं माने। इस पर छह माह पूर्व बृज किशोर परिवार के साथ गांव लौट गया और वहीं रहने लगा। पुष्पा गांव के लोगों से फोन लेकर शीलेंद्र से बात करने लगी। यह बात पूरे गांव में फैल गई। दो सप्ताह पूर्व शीलेंद्र पुष्पा के लिए कपड़े लेकर गांव पहुंच गया। इसको लेकर बृज किशोर और शीलेंद्र में विवाद हुआ था।

माफी मांगकर वारदात को अंजाम दिया : एसीपी इंदिरापुरम स्वतंत्र कुमार सिंह ने बताया कि साजिश के तहत शीलेंद्र और नन्हें तीन दिसंबर की शाम को किराये के कमरे पर बृज किशोर से मिले। शीलेंद्र ने उससे माफी मांगकर कहा कि चलो साथ बैठकर पुरानी बातें भुला देते हैं। दोनों बृज किशोर को लेकर छिजारसी अंडरपास पहुंचे और यहां उसे शराब पिलाई। नशा होते ही शीलेंद्र ने चाकू से गर्दन पर वार कर बृज किशोर को लहूलुहान कर दिया। इसके बाद दोनों ने ईंट से उसका सिर कुचल दिया और शव झाड़ियों में छिपाकर फरार हो गए।

परिजन बोले- बच्चों की क्या गलती थी

लोकपाल ने बताया कि भाई के तीनों बच्चे दो से सात साल के बीच हैं। पति की हत्या की साजिश रचते वक्त पुष्पा ने बच्चों के बारे में भी नहीं सोचा। पुष्पा को उसके किए की सजा तो मिलेगी, लेकिन बच्चों की क्या गलती थी। पिता का साया सिर से उठ गया और मां जेल में रहेगी। ऐसे में बच्चों का भविष्य अंधकार में दिख रहा है।

प्रेमी से कहा, शराब पिलाकर मार दो

पुलिस के अनुसार, अवैध संबंधों के बीच बाधा बन रहे पति को रास्ते से हटाने के लिए पुष्पा और शीलेंद्र ने साजिश रचनी शुरू कर दी। 3 दिसंबर को बृज किशोर किराये के कमरे से सामान ले जाने के लिए नोएडा पहुंचा था। इस दौरान पुष्पा ने शीलेंद्र को 500 रुपये भेजकर कहा कि वहीं पर शराब पिलाकर पति को खत्म कर दो।

शव का लावारिस में अंतिम संस्कार

बता दें कि, 4 दिसंबर को बृज किशोर का शव मिला था। घटनास्थल से चंद किलोमीटर दूर वह किराये पर रहता था, लेकिन पुलिस शव की पहचान नहीं कर पाई। 7 दिसंबर को शव का लावारिस में अंतिम संस्कार कर दिया गया। 8 दिसंबर को उसका भाई लोकपाल ने कपड़े और जूते देखकर पहचान की। उन्होंने शव दिखाने को कहा तो बताया गया कि अंतिम संस्कार किया जा चुका है। लोकपाल ने हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। शुक्रवार रात पुलिस ने पहले शीलेंद्र को पकड़ा और फिर पूछताछ के आधार पर नन्हें और पुष्पा को भी गिरफ्तार कर लिया।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें