ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदिल्ली में 15 लाख संपत्तियों की जियो टैगिंग दो महीने में होगी पूरी, जानिए इसके फायदे

दिल्ली में 15 लाख संपत्तियों की जियो टैगिंग दो महीने में होगी पूरी, जानिए इसके फायदे

दिल्ली में करीब 15 लाख संपत्तियों की जियो टैगिंग का काम दो माह में पूरा होगा। इस संबंध में एमसीडी के अधिकारी और कर्मचारी तेजी से काम करेंगे। सबसे पहले 4 लाख गैर रिहायशी संपत्तियों की जियो टैगिंग होगी।

दिल्ली में 15 लाख संपत्तियों की जियो टैगिंग दो महीने में होगी पूरी, जानिए इसके फायदे
Praveen Sharmaनई दिल्ली। हिन्दुस्तानFri, 08 Dec 2023 06:08 AM
ऐप पर पढ़ें

राजधानी दिल्ली में करीब 15 लाख संपत्तियों की जियो टैगिंग (Geo tagging) का काम दो माह में पूरा होगा। इस संबंध में दिल्ली नगर निगम के अधिकारी और कर्मचारी तेजी से काम करेंगे। सबसे पहले 4 लाख गैर रिहायशी संपत्तियों की जियो टैगिंग होगी। अगले वर्ष 31 जनवरी तक इस लक्ष्य को पूरा कर लिया जाएगा। यह बातें दिल्ली की मेयर डॉ. शैली ओबरॉय ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहीं।

मेयर ने बताया कि पिछले 7 दिनों में 20 हजार से अधिक संपत्तियों की जियो टैगिंग हो चुकी है। निगम के ऐप 311 के जरिये इस प्रक्रिया को सुनिश्चित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जियो टैगिंग वाली संपत्तियों को संपत्ति कर में 10 फीसदी की छूट मिलेगी। करदाता अपनी संपत्तियों को विशिष्ट पहचान संपत्ति कोड (यूपीआईसी) के जरिये जियो टैग कर सकेंगे। वहीं, मेयर ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले 15 वर्षों तक भाजपा ने नगर निगम में राज किया, लेकिन कभी भी संपत्तियों का डेटाबेस तैयार नहीं कराया।

भाजपा बोली, संपत्ति मालिकों पर डाला जा रहा दबाव : दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने मेयर पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मेयर ने जियो टैगिंग की आड़ में दिल्ली वालों को परेशान करने की शुरुआत कर दी है। वह 16 लाख संपत्ति मालिकों पर 50 दिन में जियो टैग का तकनीकी कार्य पूरा करने का दबाव डाल रही हैं, जबकि निगम की वेबसाइट पर100 पंजीकरण नहीं हो पा रहे हैं।

भाजपा पार्षदों का निगम मुख्यालय में प्रदर्शन

इसके अलावा भाजपा पार्षदों ने सात दिसंबर को काला दिवस मनाते हुए निगम मुख्यालय सिविक सेंटर में आम आदमी पार्टी के खिलाफ प्रदर्शन किया। इस दौरान सभी पार्षद काले कपड़े पहने हुए थे। इन्होंने आरोप लगाया कि निगम में 'आप' की सत्ता आने के बाद सभी विकास कार्य ठप पड़े हैं। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने कहा, 'आप' ने संवैधानिक स्थायी समिति का गठन नहीं कर निगम में अराजकता फैला दी है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें