DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नई दिल्ली: मरीज को चढ़ाने जा रहे ग्लूकोज की बोतल में मिला फंगस

Aruna Asaf Ali Govt. Hospital

दिल्ली सरकार के अरुणा आसफ अली अस्पताल में सोमवार को ग्लूकोज की बोतल में कथित रूप से फंगस मिलने से हड़कंप मच गया। अस्पताल के चिकित्सा निदेशक ने उस बैच की बाकी बोतलों को जांच के लिए लैब भिजवा दिया। अगर यह बोतल मरीज को चढ़ाई जाती तो उसकी जान भी जा सकती थी।

दरअसल, अस्पताल के आपातकालीन विभाग में सोमवार को एक मरीज को बोतल से कैनुला के जरिए ग्लूकोज देने की तैयारी की जा रही थी। इसके लिए ड्यूटी पर तैनात नर्सिंग स्टाफ ने अस्पताल के मेडिसन स्टोर से ग्लूकोज डेट्रोक्स नॉर्मल सेलाइन (डीएनएस) की बोतल मंगवाई, मगर उसमें फंगस जैसी चीज दिखी। तुरंत इसकी जानकारी नर्सिंग अधिकारी और डॉक्टरों को दी गई। इसके बाद अस्पताल प्रशासन ने आनन-फानन में मेडिसन स्टोर में रखी उस बैच की बाकी ग्लूकोज की बोतलों की जांच कराई। अस्पताल के चिकित्सा निदेशक सुमित सिन्हा के निर्देश पर उस बैच की बची हुई छह बोतलों को जांच के लिए लैब भेज दिया गया है। चिकित्सा निदेशक ने इस बाबत केंद्रीय खरीद प्राधिकरण (सीपीए) को भी पत्र लिखकर जानकारी दे दी है। अस्पताल के एक डॉक्टर ने नाम न बताने की शर्त पर बताया कि अगर यह बोतल मरीज को चढ़ जाती तो उसकी जान को खतरा हो सकता था। 

एक हजार बोतलें मार्च में आई थीं
अस्पताल के चिकित्सा निदेशक सुमित सिन्हा ने बताया कि केंद्रीय खरीद प्राधिकरण (सीपीए) से मार्च 2018 में डेट्रोक्स नॉर्मल सेलाइन (डीएनएस) की एक हजार बोतलों की खेप की अस्पताल को सप्लाई की थी। इनमें से छह बोतलें ही बाकी बची हैं। 

जानलेवा हो सकता है मिलावटी फ्लूइड
एम्स के मेडिसन विभाग के प्रोफेसर नवल विक्रम के मुताबिक, अगर मरीज को फ्लूइड के रूप में दी जा रही किसी भी दवा में बैक्टीरिया या फंगस लगा हुआ है तो इससे मरीज की जान तक जा सकती है। मरीज के शरीर में संक्रमण से लेकर उसे रिएक्शन जैसे बुखार, घबराहट हो सकता है। 

सीपीए प्रमुख ने जानकारी से इनकार किया
केंद्रीय खरीद प्राधिकरण (सीपीए) के प्रमुख डॉक्टर विजय कुमार ने बताया कि वे हाल ही में छुट्टी से लौटे हैं और उनकी जानकारी में यह मामला नहीं आया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Fungus found in a glucose bottle which is going to inject to patient in Aruna Asaf Ali Hospital Delhi