DA Image
27 फरवरी, 2021|3:42|IST

अगली स्टोरी

दिल्ली पुलिस का दावा- नियंत्रण रेखा पर सेना की तैनाती से जुड़ी जानकारी चीन को दे रहे थे राजीव, विदेशों में करते थे मुलाकात

चीन के लिए जासूसी के आरोप में दिल्ली के पीतमपुरा से गिरफ्तार फ्रीलांस पत्रकार राजीव शर्मा नियंत्रण रेखा पर सेना की तैनाती और भारत की सीमा रणनीति की जानकारी चीनी खुफिया तंत्र को दे रहे थे। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के डीसीपी संजीव कुमार यादव ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह चौंकाने वाला खुलासा किया है।

डीसीपी ने बताया कि पत्रकार राजीव शर्मा 2016 से 2018 तक चीनी खुफिया अधिकारियों को संवेदनशील रक्षा और रणनीतिक जानकारी देने में शामिल थे। वह विभिन्न देशों में कई स्थानों पर चीनी खुफिया अधिकारियों से मिलते थे। 

राजीव शर्मा से पूछताछ के बाद गिरफ्तार किए गए उनके दो सहयोगी- एक चीनी महिला और नेपाली पुरुष दिल्ली के महिपालपुर में एक कंपनी चलाते हैं, जहां से वे चीन को दवाएं एक्सपोर्ट करते थे और चीन से भेजे गए पैसे को शेल कंपनियों के जरिये यहां से एजेंटों को दिया जाता था। डीसीपी संजीव कुमार यादव ने बताया कि जांच के अनुसार, पिछले 1 सवा साल में 40-45 लाख रुपये इनके पास आ चुके हैं। इनके पास से 10-12 फोन, लैपटॉप, टैब और चाइनीज ATM कार्ड बरामद हुए हैं।

चीनी मीडिया के लिए भी लिखे आर्टिकल 

डीसीपी यादव ने बताया कि राजीव शर्मा लगभग 40 साल पत्रकारिता में हैं। भारत में कई मीडिया संस्थानों में एक पत्रकार के रूप में अपनी सेवाएं देने के अतिरिक्त उन्होंने एक स्वतंत्र पत्रकार के रूप में चीनी मीडिया एजेंसी ग्लोबल टाइम्स के लिए भी कई आर्टिकल लिखे हैं।

जासूसी के लिए पत्रकार को पैसे देने वाली चीनी महिला व नेपाली युवक धरे

गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच जारी भारी तनाव के बीच दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने चीनी खुफिया एजेंसी के लिए जासूसी करने के आरोप में एक फ्रीलांस पत्रकार की गिरफ्तारी के बाद इस मामले में एक चीनी महिला और नेपाली नागरिक को भी गिरफ्तार किया है।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने पीतमपुरा निवासी पत्रकार राजीव शर्मा को देश से जुड़ी रक्षा संबंधी संवेदनशील जानकारियां चीनी खुफिया एजेंसी को देने के आरोप में गिरफ्तार किया था। इसके साथ ही पुलिस ने पत्रकार से पूछताछ के बाद एक चीनी महिला और उसके नेपाली सहयोगी को भी गिरफ्तार कर लिया है। इन पर शेल कंपनियों के माध्यम से पत्रकार राजीव शर्मा को बड़ी मात्रा में रुपये देने का आरोप है। 

बताया जा रहा है कि चीनी खुफिया विभाग ने पत्रकार को बड़ी मात्रा में धन के एवज में संवेदनशील जानकारी देने का काम सौंपा था। पत्रकार के पास से बड़ी की संख्या में मोबाइल फोन, लैपटॉप और अन्य सामग्री / संवेदनशील सामग्री बरामद की गई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Freelance journalist Rajeev Sharma was passing sensitive defence information to Chinese intelligence : Delhi Police