Tuesday, January 25, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRदिल्ली एयरपोर्ट पर चार यात्री मिले कोरोना पॉजिटिव, जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे गए नमूने

दिल्ली एयरपोर्ट पर चार यात्री मिले कोरोना पॉजिटिव, जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे गए नमूने

वरिष्ठ संवाददाता , नई दिल्लीShivendra Singh
Wed, 01 Dec 2021 06:56 PM
दिल्ली एयरपोर्ट पर चार यात्री मिले कोरोना पॉजिटिव, जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे गए नमूने

इस खबर को सुनें

दिल्ली एयरपोर्ट पर कोरोना संक्रमण के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के चलते जांच को लेकर लागू नए दिशा-निर्देश के पहले दिन चार यात्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए। यह चारों यात्री लंदन और एम्सटर्डम से टर्मिनल-3 पर पहुंचे थे। इन्हें आइसोलेट कर इनके सैंपलों को जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजा दिया गया है। बुधावार से एयरपोर्ट पर विदेश से आने वाले यात्रियों के लिए कोरोना जांच अनिवार्य कर दी गई है। यहां यात्रियों का आरटी-पीसीआर और रैपिड एंटीजन टेस्ट किया जा रहा है। 

जानकारी के मुताबिक यह चारों यात्री आरटी-पीसीआर टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए हैं। इन चारों यात्रियों को लोकनायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल में क्वारंटाइन किया गया है। दिल्ली हवाईअड्डा प्रशासन के मुताबिक इन चारों यात्रियों का जीनोम सिक्वेंसिंग हो जाने के बाद यह पता चलेगा कि इन मरीजों को ओमिक्रोन वैरिएंट का संक्रमण है या नहीं। बता दें कि दिल्ली एयरपोर्ट पर दो दिन में पांच कोरोना संक्रमित यात्री मिले चुके है। यहां प्रतिदन करीब 2 हजार से अधिक लोगों की जांच हो रही है।

80 फीसदी ने कराया रैपिड पीसीआर
नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के चलते जोखिम वाले देशों से अंतरराष्ट्रीय आगमन पर 1 दिसंबर आधी रात से नए यात्रा दिशा-निर्देश लागू किए गए है। बुधवार सुबह 9 बजे तक जोखिम वाले देशों से 4 उड़ानों से कुल करीब 1013 यात्री आए। इनमें से 80 फीसदी करीब 792 यात्रियों ने रैपिड पीसीआर जांच करवाई और तकरीबन 221 यात्रियों ने आरटी-पीसीआर जांच करवाई। बता दें कि रैपिड पीसीआर की रिपोर्ट करीब 90 मिनट और आरटीपीसीआर जांच की रिपोर्ट करीब 4 से 6 घंटे में आती है।

यह भी जानें
दिल्ली में पॉजिटिव आए यात्रियों को लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल में रखा जाएगा। जबकि जांच में नेगेटिव आए यात्रियों को 7 दिनों के लिए अनिवार्य रूप से होम क्वारंटाइन में रहना होगा और उन्हें फिर से आरटीपीसीआर जांच से गुजरना होगा। बता दें कि जोखिम समझे जाने वाले देशों की सूची में ब्रिटेन, यूरोप के सभी 44 देश, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बांग्लादेश, बोत्सवाना, चीन, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे, सिंगापुर, हांगकांग और इज़राइल शामिल है।

epaper

संबंधित खबरें