ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRKisan Andolan 2024 : बस-ट्रेन और जहाज से इस दिन दिल्ली आएंगे किसान, 10 मार्च को रेल रोकने का भी प्लान

Kisan Andolan 2024 : बस-ट्रेन और जहाज से इस दिन दिल्ली आएंगे किसान, 10 मार्च को रेल रोकने का भी प्लान

Kisan Andolan 2024 : बताया गया है कि यह किसान, ट्रेन, बस और हवाई जवाज से आएंगे। हम देखते हैं कि किसान हमें धरने की इजाजत देती है या नहीं। 10 मार्च को हम पूरे देश में 'रेल रेको' प्रदर्शन करेंगे।

Kisan Andolan 2024 : बस-ट्रेन और जहाज से इस दिन दिल्ली आएंगे किसान, 10 मार्च को रेल रोकने का भी प्लान
Nishant Nandanनई दिल्ली लाइव हिन्दुस्तानSun, 03 Mar 2024 05:02 PM
ऐप पर पढ़ें

Farmers Protest : केंद्र सरकार से अपनी मांगें मनवाने के लिए अड़े किसानों ने ऐलान किया है कि दिल्ली आने के उनके प्लान में कोई बदलाव नहीं हुआ है। किसान नेता जगजीत सिंह डल्लेवाल ने बताया है कि अब किसान किस दिन दिल्ली की ओर कूच करेंगे। जगजीत सिंह डल्लेवाल ने कहा, 'हम पीछे नहीं हटे हैं औऱ दिल्ली मार्च करने का हमारा प्लान पहले जैसा ही हैं। यह तय किया गया है कि हम दिल्ली के बॉर्डरों पर अपनी ताकत बढ़ाएंगे। 6 मार्च को किसान पूरे देश से दिल्ली पहुंचेंगे। यह किसान, ट्रेन, बस और हवाई जवाज से आएंगे। हम देखते हैं कि किसान हमें धरने की इजाजत देती है या नहीं। 10 मार्च को हम पूरे देश में 'रेल रेको' प्रदर्शन करेंगे। यह प्रदर्शन दोपहर 12 बजे से शाम 4 बजे तक होगा।'

जगजीत सिंह डल्लेवाल ने कहा, 'सबसे युवा किसान शुभकरण की मौत के बाद उनके लिए श्रद्धांजलि सभा का आय़ोजन किया गया था। इस दौरान हजारों लोग इसमें शामिल हुए हैं। यह आंदोलन सिर्फ पंजाब या हरियाणा का नहीं है बल्कि पूरे देश का है। दूसरे राज्यों के लोगों ने हमसे कहा है कि हम उनके साथ हैं औऱ आगे भी रहेंगे। यह आंदोलन पूर्व में किए गए आंदोलन से बड़ा हो चुका है। ऐसा इसलिए क्योंकि हरियाणा में स्थिति यह है कि यहां लोगों को घर के अंदर बंद रखा जा रहा है। भारी बैरिकेडिंग की जा रही है। यह हमारे आंदोलन का ही नतीजा है कि गन्ना का मूल्य माफ हुआ औऱ किसानों का ब्याज माफ हुआ। यह हमारे आंदोलन का ही नतीजा है।'

किसान एमएसपी समेत कई मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। इससे पहले यह कहा जा रहा था कि किसानों ने दिल्ली मार्च पर कोई ऐलान नहीं लिया है लेकिन अब जगजीत सिंह डल्लेवाल ने साफ किया है कि यह आंदोलन अभी जारी रहेगा। इससे पहले किसान नेता मनजीत सिंह राय औऱ जसविंदर सिंह लोंगोवाल ने अपनी मांगों को लेकर 'दिल्ली चलो' आंदोलन को तेज करने की बात कही थी।

किसान अपनी मांगों को लेकर डटे हुए हैं। इनके दिल्ली चलो मार्च को 13 फरवरी को रोक दिया गया था। इसके बाद से किसान खनौरी और शंभू सीमाओं पर डेरा डाले हुए हैं। बताया जा रहा है कि किसान 14 मार्च को दिल्ली में किसान महापंचायत करेंगे। इस संबंध में संयुक्त किसान मोर्चा ने शनिवार को बताया था कि महापंचायत में 400 से अधिक किसान संघ भाग लेंगे। 

किसानों की यह है मांग

- MSP के लिए गारंटी वाला कानून
- स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करें
- किसान औऱ कृषि मजदूरों के लिए पेंशन
- पुलिस में दर्ज मामलों को वापस लिया जाए
- कृषि ऋण माफ किया जाए

किसानों के आंदोलन के दौरान शंभू बॉर्डर पर पुलिस औऱ प्रदर्शनकारी किसानों के बीच झड़प भी हुई थी। इसके बाद पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े थे। साल 2020-21 में भी किसान केंद्र सरकार के तीन कानूनों को खत्म करवाने को लेकर सड़क पर उतर चुके हैं। 
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें