DA Image
22 जनवरी, 2021|8:59|IST

अगली स्टोरी

फरीदाबाद पुलिस ने निकिता के माता-पिता और भाई को दिए गनर, 24 घंटे करेंगे पूरे परिवार की सुरक्षा

faridabad police provides security to nikita tomar s family members

Nikita Murder Case : फरीदाबाद पुलिस ने निकिता तोमर हत्याकांड में पीड़ित परिवार के सभी सदस्यों को सुरक्षा मुहैया कराई है। साथ ही पुलिस ने इस घटना से संबंधित सभी अहम सबूत भी जुटा लिए हैं। पुलिस प्रवक्ता ने गुरुवार को यह जानकारी दी।  बीकॉम फाइनल ईयर की छात्रा निकिता तोमर की बीते सोमवार एक युवक ने कॉलेज के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी थी।

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि छात्रा निकिता के भाई, पिता व मां को अलग-अलग गनमैन दिए गए हैं जो 24 घंटे तीनों की सुरक्षा में तैनात रहेंगे। उन्होंने बताया कि पुलिस निकिता हत्याकांड के मामले में 12 दिन के अंदर चार्जशीट दाखिल करेगी। पुलिस का दावा है कि हत्याकांड से संबंधित सभी साक्ष्य जुटा लिए गए हैं। अब बस चार्जशीट तैयार करके अदालत में पेश करना बाकी है।

प्रवक्ता ने बताया कि निकिता हत्या मामले के एक और आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने बुधवार रात आरोपी अजरुद्दीन को नूंह से गिरफ्तार किया है। अजरुद्दीन ने इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी तौसिफ को हथियार मुहैया कराए थे।

उन्होंने बताया कि निकिता हत्याकांड के मुख्य आरोपी तौसिफ की दो दिन की हिरासत पूरी होने पर एसआईटी ने उसे आज अदालत में पेश किया, जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। वहीं, बुधवार रात नूंह से गिरफ्तार किए गए आरोपी अजरुद्दीन को भी अदालत में पेश किया गया और उसे भी जेल भेजा गया। उन्होंने बताया कि अजरुद्दीन पर तौसिफ को देसी पिस्तौल उपलब्ध कराने का आरोप है। उन्होंने बताया कि तौसिफ के साथी रेहान की रिमांड कल पूरी होगी और उसे कल अदालत में पेश किया जाएगा।

निकिता हत्याकांड: सीएम खट्टर से की तौसिफ की संपत्ति कुर्क करने की मांग

वहीं, बल्लभगढ़ में अग्रवाल कॉलेज के सामने 'वूमेंस पॉवर नामक एक एनजीओ की कार्यकर्ताओं ने पैदल मार्च किया और आरोपियों को सख्त सजा दिए जाने की मांग की। उन्होंने छात्राओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के प्रत्येक कॉलेज में 'वूमेन सेल' का गठन करने तथा महिला पुलिसकर्मियों की तैनाती की भी मांग की।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) के छात्र नेता निकिता तोमर को इंसाफ दिलाने की मांग लेकर अग्रवाल कॉलेज के बाहर धरने पर बैठ गए। उन्होंने कहा कि कॉलेज में कोई भी घटना होती है, तो उसका जिम्मेदार कॉलेज प्रशासन होगा। उन्होंने कहा कि कॉलेज के प्रवेश द्वार पर सीसीटीवी कैमरे लगने चाहिए और कॉलेज के बाहर पीसीआर होनी चाहिए।

वहीं, अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के पदाधिकारियों ने एसडीएम जितेंद्र कुमार को ज्ञापन सौंपकर निकिता हत्याकांड के आरोपियों को सख्त सजा दिलाए जाने की मांग की। हालांकि बीती रात पुलिस ने प्रदर्शनकारी छात्रों के टैंट वहां से हटा दिया लेकिन छात्र रातभर धरने पर बैठे रहे।

करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सूरजपाल अम्मू, पूर्व विधायक शारदा राठौर, उमेश ठाकुर सहित कई वरिष्ठ नेताओं ने गुरुवार को धरनास्थल पर पहुंचकर सरकार व प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और निकिता के हत्यारों को फांसी की सजा देने की मांग की। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Faridabad police provides security to Nikita Tomar s family members