ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRसमय पर पहुंचेगा सामान, कारोबार को रफ्तार; FNG एक्सप्रेसवे से हजारों छात्रों को भी मिलेगा फायदा

समय पर पहुंचेगा सामान, कारोबार को रफ्तार; FNG एक्सप्रेसवे से हजारों छात्रों को भी मिलेगा फायदा

FNG Expressway: फरीदाबाद, नोएडा और गाजियाबाद एक्सप्रेसवे बनने से एनसीआर के इन तीनों प्रमुख जिलों के हजारों को उद्योगों को लाभ होगा। इन्हें एक नया मार्ग मिल सकेगा और सामान पहुंचाने में आसानी होगी।

समय पर पहुंचेगा सामान, कारोबार को रफ्तार; FNG एक्सप्रेसवे से हजारों छात्रों को भी मिलेगा फायदा
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,नोएडा गाजियाबाद फरीदाबादTue, 18 Jun 2024 07:44 AM
ऐप पर पढ़ें

फरीदाबाद, नोएडा और गाजियाबाद (एफएनजी) मार्ग के बनने से एनसीआर के इन तीनों प्रमुख जिलों के हजारों को उद्योगों को लाभ होगा। इन्हें एक नया मार्ग मिल सकेगा और सामान ले जाने और लाने में आसानी रहेगी। प्रतिदिन कच्चे और निर्मित उत्पादों के आदान-प्रदान कम समय में हो सकेगा। गाजियाबाद और नोएडा की छोटी छोटी इकाइयों से फरीदाबाद काफी तादात में कच्चा माल भेजा जाता है। दोनों के बीच सबसे अधिक इंजीनियरिंग गुड्स और फोर्जिंग का कारोबार होता है। इसके अलावा भी कई उत्पादों का कारोबार किया जाता है। ऐसे में एफएनजी परियोजना पूरी होने का सीधा फायदा इन कारोबारियों को होगा। इन्हें एक नया मार्ग मिल सकेगा और सामान ले जाने और लाने में आसानी रहेगी।

गाजियाबाद से फरीदाबाद को सीधे सड़क मार्ग से जोड़ने के लिए एफएनजी परियोजना तैयार की गई थी। इस परियोजना में गाजियाबाद की कोई भागीदारी नहीं है, लेकिन यह सड़क मार्ग राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच) नौ पर नोएडा के छिजारसी कट तक तैयार होगी। इस कारण एफएनजी से आने वाले वाहन सीधे एनएच नौ से जुड़ जाएंगे। वाहन चालकों को दिल्ली नहीं जाना पड़ेगा। साथ ही जाम की समस्या से भी छुटकारा मिल सकेगा। जानकार बताते हैं कि यह परियोजना तैयार होने का फायदा लाखों लोगों को होगा। नए मार्ग के तैयार होने से लोग कम समय और जाम की समस्या से बचते हुए आसानी से अपने गंतव्य पर पहुंच सकेंगे। वह इस मार्ग के जरिये सीधे फरीदाबाद और गाजियाबाद आ-जा सकेंगे। इस मार्ग के तैयार होने से गाजियाबाद और फरीदाबाद के बीच की दूरी भी कम हो जाएगी।

कारोबार को मिलेगी रफ्तार 

फरीदाबाद में बड़े उद्योग लगे हुए हैं। ऐसे में गाजियाबाद की छोटी-छोटी इकाइयों से फरीदाबाद काफी तादात में कच्चा माल भेजा जाता है। दोनों के बीच सबसे अधिक इंजीनियरिंग गुड्स और फोर्जिंग का कारोबार होता है। इसके अलावा भी कई उत्पादों का कारोबार किया जाता है। ऐसे में एफएनजी परियोजना पूरी होने का सीधा फायदा इन कारोबारियों को होगा। इन्हें एक नया मार्ग मिल सकेगा और सामान ले जाने और लाने में आसानी रहेगी।

छात्रों को भी फायदा मिलेगा 

गाजियाबाद और नोएडा में काफी तादाद में शैक्षिक संस्थान है, जिनमें लाखों छात्र पढ़ते हैं। एफएनजी एक्सप्रेसवे तैयार होने का फायदा छात्रों को भी होगा। छात्र फरीदाबाद समेत आसपास के क्षेत्रों से आसानी से गाजियाबाद पहुंच सकेंगे। इसके अलावा फरीदाबाद में कार्यरत लोगों को इस मार्ग के आसपास आवासीय विकल्प खरीदने या किराये पर लेने की सुविधा मिल सकेगी। लोगों की मांग है कि सरकार इस परियोजना को जल्द सिरे चढ़ाए। इससे शहर के सभी वर्ग के लोगों को लाभ मिल सकेगा।

कम किराया देना पड़ेगा

एफएनजी शुरू होने से नोएडा और फरीदाबाद की औद्योगिक इकाइयों को सहूलियत मिलेगी। नोएडा में ही 11 हजार औद्योगिक इकाइयां काम कर रही हैं। प्रतिदिन कच्चे और निर्मित उत्पादों के आदान-प्रदान कम समय में हो सकेगा। वर्तमान में दोनों शहरों के सामान को लाने और ले जाने के लिए दिल्ली के सरिता विहार से जाना पड़ता है, जिससे समय ज्यादा लगने के साथ ही किराया भी अधिक देना पड़ता है।

सामान जल्द पहुंच सकेगा

एफएनजी का फायदा गाजियाबाद के उद्यमियों को होगा। नई कनेक्टिविटी बनने से गाजियाबाद के आठ हजार से अधिक उद्यमियों का कच्चा और तैयार माल कम समय में फरीदाबाद पहुंच सकेगा। गाजियाबाद में 35 हजार से अधिक छोटी-बड़ी औद्योगिक इकाइयां है। इनमें साढ़े चार हजार से अधिक इंजीनियरिंग गुड्स और करीब साढ़े तीन हजार फोर्जिंग इकाइयां संचालित हैं। 

उद्यमी बताते हैं कि गाजियाबाद की इंजीनियरिंग गुड्स और फोर्जिंग इकाइयों से कच्चा माल और तैयार माल फरीदाबाद के उद्योगों को जाता है। एफएनजी शुरू होने से नोएडा और फरीदाबाद की कनेक्टिविटी काफी बेहतर होगी। अभी फरीदाबाद सामान भेजने में काफी समय लगता है, साथ ही व्यस्त समय में कोई नहीं जाना चाहता। ऐसे में सामान पहुंचाने में भी कई बार काफी समय लग जाता है। वहीं, सरिता विहार दिल्ली में जाम के कारण वायु प्रदूषण भी बढ़ता है।

Advertisement