रॉकी हत्याकांड मामले में चार मोस्ट वॉन्टेड बदमाश गिरफ्तार, मुख्य आरोपी ने भाई की मौत का बदला लेने को की थी हत्या

फरीदाबाद। वरिष्ठ संवाददाता  Last Modified: Thu, Apr 01 2021. 17:02 PM IST
offline

रॉकी हत्याकांड मामले में फरीदाबाद पुलिस की अपराध जांच शाखा सेक्टर-30 और अपराध जांच शाखा सेक्टर-17 की संयुक्त टीम ने गुरुवार को राजस्थान के अलवर शहर में छापेमारी कर चार मोस्ट वॉन्टेड बदमाशों को गिरफ्तार किया है। मुख्य आरोपी ने अपने भाई की हत्या का बदला लेने के लिए रॉकी हत्याकांड को अंजाम दिया था।

गिरफ्तार आरोपियों की पहचान भैंसरावली गांव निवासी विनोद उर्फ बिन्नी, राहुल उर्फ नन्नू, तिगांव निवासी कपिल और चांदहट निवासी अजीत के रूप में हुई है। आरोपियों के खिलाफ छह मामले दर्ज हैं। आरोपी विनोद उर्फ बिन्नी पर 50 हजार का इनाम था, जबकि तीन अन्य आरोपियों पर 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित था।

पुलिस कमिश्नर ओ.पी. सिंह और डीसीपी मुख्यालय डॉ. अर्पित जैन ने गुरुवार दोपहर को पुलिस आयुक्त कार्यालय में प्रेसवार्ता के दौरान यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि अपराध जांच शाखा सेक्टर-30 प्रभारी विमल कुमार और अपराध जांच शाखा सेक्टर-17 प्रभारी संदीप मोर की टीम ने आरोपियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है।

गिरफ्तारी से बचने के लिए बदल रहे थे ठिकाने : गिरफ्तार आरोपी हत्याकांड के बाद गिरफ्तार होने से बचने के लिए लगातार ठिकाने बदल रहे थे। फिलहाल राजस्थान के अलवर जिले के सुनसान एरिया में आरोपियों ने अपना ठिकाना बनाया हुआ था। आरोपियों पर हत्या, हत्या के प्रयास, फिरौती और मारपीट के दर्जन भर मामले दर्ज हैं। पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल की गई स्कॉर्पियो गाड़ी बरामद कर ली है।

भाई की हत्या का बदला लेने के लिए ली थी रॉकी की जान : मुख्य आरोपी विनोद उर्फ बिन्नी ने पुलिस को बताया कि रॉकी हत्याकांड से करीब एक वर्ष पहले नचौली गांव निवासी कुलभूषण उर्फ कुल्लू ने अपने साथियों के साथ मिलकर ग्रेटर फरीदाबाद की वर्ल्ड स्ट्रीट मार्केट में उसके भाई अन्नी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। अपने भाई की हत्या का बदला लेने के लिए उसने कुलभूषण उर्फ कुल्लू के भाई की हत्या की योजना बनाई थी। भाई की हत्या का बदला लेने के लिए उसने अपने साथी राहुल उर्फ नन्नू, अजीत, मोहित उर्फ चुटिया और कपिल की सहायता से 12 नवंबर सन 2020 को कुलभूषण उर्फ कुल्लू के भाई रॉकी की उसके दफ्तर में घुसकर हत्या कर दी थी।    

गौरतलब है कि इससे पहले पुलिस इस मामले में फरार चल रहे दो आरोपियों उत्तर प्रदेश के शामली जिले के खोदशामा गांव निवासी अनिल ढाका और फरीदाबाद के राजपुर कलां निवासी तरुण को गिरफ्तार किया था। आरोपियों की निशानदेही पर दो पिस्तौल, चार मैगजीन और 17 कारतूस बरामद किए गए थे। पुलिस ने उन्हें 30 नवंबर को आरोपियों को सोहना से गिरफ्तार किया था। 

ऐप पर पढ़ें

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं? हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें।
हिन्दुस्तान मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें