Faridabad DCP Suicide Case: SIT to interrogate woman close to SHO - DCP सुसाइड केस : एसएचओ की करीबी महिला से पूछताछ करेगी SIT DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

DCP सुसाइड केस : एसएचओ की करीबी महिला से पूछताछ करेगी SIT

dcp vikram kapoor

डीसीपी आत्महत्या प्रकरण में एसआईटी धीरे-धीरे अपनी जांच आगे बढ़ा रही है। इस मामले की तह में जाने के लिए एसआईटी आरोपी एसएचओ की परिचित महिला से पूछताछ कर सकती है। एसआईटी अध्यक्ष एवं एसटीएफ आईजी अमिताभ ढिल्लो इस मामले की जांच के सिलसिले में एक-दो दिन में फरीदाबाद आ सकते हैं। 

जानें, DCP विक्रम कपूर की खुदकुशी के पीछे कहीं ये राज तो नहीं 

गुरुवार को एसआईटी प्रमुख एवं पलवल के पुलिस अधीक्षक नरेंद्र बिजारनिया ने जांच के सिलसिले में पुलिस आयुक्त संजय कुमार से मुलाकात की। एसएचओ ने पुलिस द्वारातमाम हथकंडे अपनाए जाने के बाद भी अपना मुंह नहीं खोला था। वह जांच टीम को लगातार बरगलाता रहा। हालांकि आरोपी से राज उगलवाने के लिए पुलिस के पास अभी नारको और लाई डिटेक्टर टेस्ट के विकल्प हैं।

विश्वास करते थे आरोपी पर

डीसीपी विक्रम कपूर की आरोपी निलंबित एसएचओ अब्दुल शहीद से करीब 15 वर्ष से जान-पहचान थी। सीधा स्वभाव होने के कारण वह आरोपी पर विश्वास करते थे। उन्हें उस पर बिल्कुल भी भरोसा नहीं था कि आरोपी उन्हें ब्लैकमेल भी कर सकता है। पुलिस विभाग में यह चर्चा भी जोरों से चल रही है कि आरोपी ने डीसीपी को यह भी धमकी दी थी कि 15 अगस्त को राज्यपाल के समक्ष शिकायत करवा देंगे। जिससे डीसीपी का सिरदर्द बढ़ा हुआ था। शायद इसी वजह से डीसीपी ने आत्महत्या की।

DCP विक्रम कपूर सुसाइड केस: पहले भी दागी रहा है आरोपी एसएचओ का रिकॉर्ड

गौरतलब है कि बीते 14 अगस्त को डीसीपी विक्रम कपूर ने सुबह करीब 6 बजे फरीदाबाद के सेक्टर 30 पुलिस लाइन में अपने सरकारी आवास में सर्विस रिवॉल्वर से खुद को गोली मार ली थी। आत्महत्या से पहले लिखे गए सुसाइड नोट में डीसीपी कपूर ने भूपानी थाना एसएचओ अब्दुल शहीद पर एक और शख्स के साथ मिलकर उन्हें करीब डेढ़ माह से ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया था। इस वजह से वह मानसिक तनाव में चल रहे थे।

2020 में रिटायर होना था

मूलरूप से अंबाला के रहने वाले विक्रम कपूर पिछले एक साल से एनआईटी क्षेत्र के डीसीपी पद पर तैनात थे और उन्हें 2020 में रिटायर होना था। वह काफी मिलनसार कर्मठ अधिकारी थे। 

एएसआई के रूप में हुए थे भर्ती

वह हरियाणा पुलिस में एएसआई के रूप में भर्ती हुए थे। पदोन्नति के बाद वह डीसीपी बने और पिछले करीब दो साल से फरीदाबाद में पदस्थ थे। विक्रम कपूर की रिटायरमेंट में अभी एक साल बाकी था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Faridabad DCP Suicide Case: SIT to interrogate woman close to SHO