DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  साइबर क्राइम टीम के 12 पुलिस कर्मियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज, जानिए क्या है पूरा मामला
एनसीआर

साइबर क्राइम टीम के 12 पुलिस कर्मियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज, जानिए क्या है पूरा मामला

नूंह फरीदाबाद। वरिष्ठ संवाददाताPublished By: Praveen Sharma
Mon, 14 Jun 2021 10:03 AM
साइबर क्राइम टीम के 12 पुलिस कर्मियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज, जानिए क्या है पूरा मामला

हरियाणा के नूंह के बिछोर थाना पुलिस ने मृतक जुनैद की मां की शिकायत पर फरीदाबाद साइबर क्राइम सेल के छह नामजद और अन्य छह पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। जुनैद की मौत को लेकर पिछले दो दिन से पुन्हाना में तनाव बना हुआ है।

मृतक जुनैद की मां खतीजा की ओर से बिछोर थाना पुलिस में दी शिकायत में बताया गया कि गत 31 मई की शाम को फरीदाबाद साइबर क्राइम सेल की टीम जुनैद निवासी जमाल गढ़ व नदीम निवासी नई को सुन्हेड़ा सीमा के पास से जबरन अपनी कार में डाल कर अपने साथ फरीदाबाद ले गई थी। खतीजा ने बताया कि एक जून को जुनैद को पुलिस से छुड़ाने के लिए गांव के इरशाद के साथ अन्य तीन व्यक्तियों को फरीदाबाद भेजा था।

आरोप है कि साइबर सेल के सब-इंस्पेक्टर राजेश कुमार ने 70 हजार रुपये लेकर नदीम को छोड़ दिया। खतीजा ने बताया कि नदीम को छोड़ने से पूर्व कई कोरे कागजों पर हस्ताक्षर कराने के बाद किसी प्रकार की पुलिस के खिलाफ शिकायत करने व मेडिकल कराने पर सारे परिवार की मुकदमे में फंसाने की धमकी दी थी।

खतीजा के अनुसार, जुनैद की तबीयत लगातार खराब रहने पर जुनैद ने बताया कि साइबर सेल की पुलिस टीम के सब-इंस्पेक्टर राजेश कुमार, सरजीत, थाना प्रबंधक बसंत कुमार, एएसआई नरेंद्र सिंह, जावेद और हवलदार नरेश कुमार, दलबीर सिंह के अलावा 5-6 पुलिस कर्मियों ने पूरी रात बुरी तरह उसके साथ मारपीट की है।

खतीजा ने अपनी शिकायत में यह भी बताया कि सब-इंस्पेक्टर राजेश कुमार बार-बार अन्य तीन व्यक्तियों को मौत के घाट उतारने की धमकी दी। जुनैद की लगातार हालात बिगड़ने पर कई अस्पतालों में इलाज कराया गया, लेकिन पुलिस की पिटाई से जुनैद को लगी गहरी चोट के कारण कहीं फायदा नहीं हुआ। जुनैद के खिलाफ साइबर क्राइम की टीम ने भी किसी प्रकार के आपराधिक घटना की जानकारी नही दीं है।

इस संबंध में बिछोर थाना पुलिस के जांच अधिकारी प्रकाश चंद ने बताया की जुनैद की मां खतीजा की ओर से शनिवार को दी गई शिकायत पर फरीदाबाद साइबर क्राइम पुलिस टीम के छह नामजद और 6 अन्य पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है।

मौत के बाद बवाल काटने पर 200 लोगों के खिलाफ केस 

पुन्हाना में शनिवार को युवक की मौत के बाद भड़के ग्रामीणों ने जमकर बवाल काटा था। पुलिस ने इस मामले में करीब 200 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। इनमें 58 नामजद आरोपी हैं, जबकि लगभग डेढ़ सौ अन्य लोग हैं। इनके खिलाफ हत्या के प्रयास समेत विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने इस मामले में आठ लोगों को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है, अन्य आरोपियों की तलाश में पुलिस ने अलग-अलग टीमें बनाकर धर-पकड़ शुरू कर दी है। गुस्साए लोगों ने आरोप लगाया कि फरीदाबाद क्राइम ब्रांच की टीम ने धोखाधड़ी के एक मामले में जुनैद को हिरासत में लेकर उसकी पिटाई की थी, उसी वजह से उसकी मौत हुई है।

उधर, फरीदाबाद एसीपी (हेडक्वार्टर) आकाशदीप सिंह ने पुलिस पर लगाए गए इन सभी आरोपों को खारिज करते हुए बताया कि मृतक जुनैद किडनी की बीमारी से ग्रस्त था, उसके साथ मारपीट नहीं हुई थी। 

संबंधित खबरें