ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRइंजीनियरिंग ड्रॉपआउट बन गया बड़ा ठग, ऑनलाइन निवेश के बहाने करता था फ्रॉड; खाता मालामाल

इंजीनियरिंग ड्रॉपआउट बन गया बड़ा ठग, ऑनलाइन निवेश के बहाने करता था फ्रॉड; खाता मालामाल

दिल्ली पुलिस ने एक इंजीनियरिंग ड्रॉपआउट छात्र को 7.5 लाख रुपये की धोखाधड़ी करने के आरोप में गिरफ्तार किया। जांच के दौरान आरोपी के खिलाफ गृह मंत्रालय के पोर्टल पर 12 शिकायतें दर्ज पाई गईं हैं।

इंजीनियरिंग ड्रॉपआउट बन गया बड़ा ठग, ऑनलाइन निवेश के बहाने करता था फ्रॉड; खाता मालामाल
Subodh Mishraलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 20 Jun 2024 10:02 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली पुलिस ने एक इंजीनियरिंग ड्रॉपआउट छात्र को 7.5 लाख रुपये की धोखाधड़ी करने के आरोप में गिरफ्तार किया। आरोपी के खिलाफ गृह मंत्रालय के पोर्टल पर 12 शिकायतें दर्ज पाई गईं हैं।

पुलिस ने गुरुवार को कहा कि 34 वर्षीय बीटेक ड्रॉपआउट को ऑनलाइन निवेश के बहाने एक व्यक्ति से 7.48 लाख रुपये की धोखाधड़ी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। जांच के दौरान पुलिस को आरोपी के खाते में 7.35 करोड़ रुपये का लेनदेन मिला। आरोपी की पहचान अंकित गुप्ता के रूप में हुई है। गृह मंत्रालय के पोर्टल पर उसके खिलाफ 12 शिकायतें दर्ज हैं। 

दिल्ली पुलिस के दक्षिण-पश्चिम पुलिस उपायुक्त रोहित मीना ने कहा कि धन सिंह नेगी नामक एक व्यक्ति ने 26 अप्रैल को एनसीआरपी में शिकायत दर्ज कराई। शिकायत में कहा गया कि 10 अप्रैल को एक महिला के संपर्क में आया। उसने उसके साथ कुछ घंटे बिताए और ज्यादा आय अर्जित करने का लालच दिया। ।

डीसीपी ने कहा कि शिकायतकर्ता को एक ऑनलाइन मैसेजिंग ऐप ग्रुप में जोड़ा गया। निवेश और अच्छे रिटर्न के नाम पर उससे 7.48 लाख रुपये की धोखाधड़ी की गई। जांच के दौरान अंकित गुप्ता को 13 जून को उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले से गिरफ्तार किया गया।

गुप्ता ने पूछताछ के दौरान खुलासा किया कि उसने अपने एक साथी के साथ मिलकर उसके नाम पर चार फर्जी फर्म रजिस्टर्ड कराई और लोगों को धोखा देने के लिए बैंक खाते खोले। उसका दिल्ली निवासी साथी अभी भी फरार है। उसकी तलाश में छापेमारी की जा रही है।

गुप्ता ने गाजियाबाद के एक कॉलेज में बीटेक कंप्यूटर साइंस का कोर्स बीच में ही छोड़ दिया। डीसीपी मीना ने कहा कि उसकी गिरफ्तारी से बिजनौर, झांसी और दिल्ली के तीन साइबर धोखाधड़ी से जुड़े मामलों का निपटारा हो गया है।

Advertisement