ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRयूपी के सब-स्टेशन में खराबी के बाद दिल्ली की बिजली आपूर्ति बाधित

यूपी के सब-स्टेशन में खराबी के बाद दिल्ली की बिजली आपूर्ति बाधित

Electricity Crisis in Delhi: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अब बिजली संकट भी गहरा गया है। दिल्ली सरकार की मंत्री आतिशी ने इसकी वजह बताई है। दिल्ली के कौन कौन से इलाके इससे प्रभावित हुए हैं। जानें...

यूपी के सब-स्टेशन में खराबी के बाद दिल्ली की बिजली आपूर्ति बाधित
Krishna Singhलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 12 Jun 2024 10:08 AM
ऐप पर पढ़ें

बूंद-बूंद पानी को तरसती दिल्ली में अब बिजली संकट भी गहरा गया है। दिल्ली सरकार की मंत्री आतिशी ने यह जानकारी दी है। आतिशी ने कहा कि यूपी के मंडोला में  पीजीसीआईएल के एक सब-स्टेशन में आग लगी है। इस सब-स्टेशन से दिल्ली को 1500 मेगावॉट बिजली मिलती है। आतिशी ने बताया कि मंडोला सब-स्टेशन में आग लगने की वजह से दिल्ली के कई हिस्सों में पावर कट हुआ है। यह बहुत गंभीर मुद्दा है। यह बहुत चिंता की बात है कि मौजूदा वक्त में देश का इलेक्ट्रिसिटी इफ्रास्ट्रक्चर फेल हो चुका है...

कौन से इलाके प्रभावित?
आतिशी ने बताया कि 2 बजकर 11 मिनट से दिल्ली के कई हिस्सों में पावर कट हुआ। इससे पूर्वी दिल्ली का काफी हिस्सा, आईटीओ का हिस्सा, दक्षिणी दिल्ली में सुखदेव विहार, आश्रम, सरिता विहार समेत कई इलाके प्रभावित हुए। हालांकि दिल्ली की बिजली कंपनियों ने तेजी से काम करते हुए अगल-अलग इलाकों में बिजली आपूर्ति बहाल करना शुरू कर दिया है।

दिल्ली सरकार विकल्पों पर कर रही काम
मंत्री आतिशी ने कहा कि फिलहाल दिल्ली सरकार राष्ट्रीय राजधानी की बिजली कंपनियों से इस मसले पर बात कर रही है। इसके फौरी समाधान के लिए दिल्ली के अन्य पॉवर स्रोतों (जैसे एन -1) से लिंक किया जा रहा है। 

बिजली मंत्री से बात करेंगी आतिशी
आतिशी ने इसे बेहद गंभीर मुद्दा बताया। उन्होंने कहा- मैं आज ही केंद्र सरकार के नए बिजली मंत्री बने मनोहर लाल जी से समय मांगूंगी। देश के समूचे पॉवर ट्रांसमिशन सिस्टम को केंद्र सरकार चलाती है। पॉवर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया, एनटीपीसी इनका एक पूरा नेशनल पॉवर ग्रिड है। 

बिजली के लिए भी दूसरे राज्यों पर निर्भर है दिल्ली
आतिशी ने कहा कि आप सभी जानते हैं कि दिल्ली बहुत सीमित स्तर पर पॉवर प्रोडक्शन होता है। दिल्ली की अधिकतर बिजली बाहरी राज्यों से आती है। यह एनटीपीसी के तहत आती है। इसके बाद तीन बिजली कंपनियों के जरिए दिल्ली में इसका वितरण होता है। दिल्ली सरकार की जिम्मेदारी केवल राष्ट्रीय राजधानी में मौजूद डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम को मजबूत करना है। 

नेशनल ग्रिड की वजह से पॉवर कट
आतिशी ने कहा कि जब दिल्ली में पीक पॉवर 800 मेगावॉट पहुंची थी तब भी दिल्ली में कोई ब्लैक आउट नहीं हुआ था। आज दिल्ली में जो पॉवर कट हुआ है वह नेशनल ग्रिड की वजह से हुआ है। दिल्ली सरकार इस पर तुरंत ऐक्शन लेगी। 

केंद्र सरकार पर निशाना
इसके साथ ही आतिशी ने केंद्र सरकार पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि यह बेहद चिंताजनक बात है कि मौजूदा वक्त में देश का पॉवर इंफ्रास्ट्रक्चर फेल हो गया है। दिल्ली देश की राजधानी है। देश की राजधानी में इस तरह का फेलियर नेशनल ग्रिड की तरफ से होता है तो इसके बेहद गंभीर परिणाम होंगे। दिल्ली सरकार ने 24 घंटे पूरे हफ्ते बिजली देने का पूरा प्रयास किया है। 

अलग-अलग इलाकों में वापस आ रही बिजली
पॉवर कट की घटना के बाद आतिशी ने 3:49 बजे एक्स पर अपने पोस्ट में कहा- बिजली बहाली की प्रक्रिया शुरू हो गई है। अब धीरे-धीरे अलग-अलग इलाकों में बिजली वापस आ रही है। लेकिन, राष्ट्रीय पावर ग्रिड में बड़ी विफलता बेहद चिंताजनक है। मैं केंद्रीय ऊर्जा मंत्री और पावर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (PGCIL) के चेयरमैन से मिलने का समय मांग रही हूं, ताकि सुनिश्चित किया जा सके कि ऐसी स्थिति दोबारा ना आए।