ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRशराब घोटाले में केजरीवाल के बाद कैलाश गहलोत पर शिकंजा, ED दफ्तर में 5 घंटे तक सवाल-जवाब

शराब घोटाले में केजरीवाल के बाद कैलाश गहलोत पर शिकंजा, ED दफ्तर में 5 घंटे तक सवाल-जवाब

ईडी ने दिल्ली के मंत्री कैलाश गहलोत से शनिवार को ठंडे बस्ते में जा चुकी शराब नीति के संबंध में पांच घंटे तक पूछताछ की। कैलाश गहलोत से क्या हुए सवाल जानने के लिए पढ़ें यह रिपोर्ट...

शराब घोटाले में केजरीवाल के बाद कैलाश गहलोत पर शिकंजा, ED दफ्तर में 5 घंटे तक सवाल-जवाब
kailash gahlot
Krishna Singhअरुण चट्ठा,नई दिल्लीSat, 30 Mar 2024 06:43 PM
ऐप पर पढ़ें

ईडी ने दिल्ली के कथित आबकारी घोटाले में शनिवार को केजरीवाल सरकार के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत से पूछताछ की। ईडी के दूसरे समन पर दिल्ली सरकार के मंत्री सुबह साढ़े 11 बजे ईडी दफ्तर पहुंचे, जहां पर उनसे करीब पांच घंटे तक पूछताछ की गई। पूछताछ के बाद ईडी दफ्तर से निकले कैलाश गहलोत ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि ईडी अधिकारियों ने उनसे जो भी सवाल पूछे उन सभी का उन्होंने जवाब दे दिया। उन्होंने बताया कि ईडी अधिकारियों ने उनसे पॉलिसी से जुड़े सवाल पूछे।

क्या पूछे सवाल?
मीडिया से बातचीत के दौरान मंत्री ने जांच से जुड़े किसी भी विशेष सवाल के बारे में खुलकर बताने से इनकार कर दिया। मंत्री ने कहा कि यह जांच का विषय है। क्या सवाल पूछे गए, यह तो मैं नहीं बता सकता हूं लेकिन जब मीडिया ने सवाल किया कि विजय नायर आपके आवास में रह रहे थे। क्या इसको लेकर भी सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि आवास निश्चित तौर पर मेरे नाम पर आवंटित है लेकिन मैं आज भी उस आवास में नहीं रहा हूं और न ही मैंने वहां पर शिफ्ट किया है।

विजय नायर की मौजूदगी के बारे में नहीं थी जानकारी
कैलाश गहलोत ने कहा- मैं वसंत कुंज स्थित निजी आवास में रह रहा हूं। वह से डीपीएस स्कूल घर के बिल्कुल नजदीक है, जिस कारण से मेरी पत्नी और बच्चों ने वहां से शिफ्ट करने से इंकार किया था। इसलिए मेरी तरफ से जानकारी दी गई कि विजय नायर वहां पर रह रहे हैं या नहीं रह रहे हैं। इसके बारे में मुझे कोई सूचना नहीं थी। मंत्री ने कहा कि मुझे यह दूसरा समन था।

ईडी ने किस लिए किया था तलब?
कैलाश गहलोत ने कहा- पहला समन मुझे विधानसभा सत्र के दौरान करीब एक महीने पहले आया था। मैंने यही कहते हुए समय मांगा था कि अभी विधानसभा सत्र चल रहा है, मुझे थोड़ा समय दिया जाए। क्योंकि बतौर मंत्री काफी सवालों के जबाव भी देने होते हैं। कैलाश कहलोत ने बताया कि ईडी ने मेरी मुख्यमंत्री से भी कोई मुलाकात नहीं कराई गई। ध्यान रहे कि कैलाश गहलोत उस मंत्री समूह का हिस्सा थे, जिसने आबकारी नीति का ड्राफ्ट तैयार किया था। उन्हें उसी हैसियत से ईडी द्वारा समन जारी कर बुलाया गया था।

गोवा चुनाव प्रचार के बारे में कुछ नहीं जानता
वहीं हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, कैलाश गहलोत ने कहा कि वह कभी भी गोवा चुनाव अभियान का हिस्सा नहीं थे। आरोप है कि शराब घोटाले की कथित आपराधिक आय को गोवा चुनाव अभियान में लगाया गया था। इस मसले पर संवाददाताओं के सवाल पर कैलाश गहलोत ने कहा- मैं इस पर टिप्पणी नहीं कर सकता हूं क्योंकि मैं कभी भी गोवा चुनाव अभियान की योजना का हिस्सा नहीं था। उन्होंने यह भी बताया कि उनका मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से उनका आमना-सामना नहीं कराया गया।