ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRकेजरीवाल ने किया 6 kg वजन घटने का दावा, कोर्ट में ED बोली- बढ़ ही गया

केजरीवाल ने किया 6 kg वजन घटने का दावा, कोर्ट में ED बोली- बढ़ ही गया

अदालत AAP के संयोजक अरविंद केजरीवाल की अंतरिम जमानत याचिका पर सुनवाई कर रही थी। केजरीवाल ने स्वास्थ्य के आधार पर अंतरिम जमानत की अवधि एक सप्ताह बढ़ाने का अनुरोध किया है।

केजरीवाल ने किया 6 kg वजन घटने का दावा, कोर्ट में ED बोली- बढ़ ही गया
Sourabh Jainलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीSat, 01 Jun 2024 04:51 PM
ऐप पर पढ़ें

ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) ने शनिवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अंतरिम जमानत अवधि बढ़ाने की याचिका का विरोध किया। ईडी ने कहा कि आम आदमी पार्टी (AAP) प्रमुख ने अपने स्वास्थ्य के बारे में गलत बयान दिया है। एजेंसी ने केजरीवाल के उस दावे का भी खंडन किया कि जेल में रहने के दौरान उनका वजन 6 किलोग्राम कम हो गया था, बल्कि एजेंसी ने दावा किया कि जेल में उनका वजन तो 1 किलो बढ़ ही गया था।

ईडी ने विशेष न्यायाधीश कावेरी बावेजा के सामने दावा किया कि केजरीवाल ने तथ्यों को छिपाया एवं अपने स्वास्थ्य सहित कई मामलों पर गलत बयान दिए। एजेंसी ने कोर्ट को ये भी बताया कि मेडिकल जांच करवाने के बजाय वह देश भर में यात्रा कर रहे हैं।ईडी की ओर पेश हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने अदालत में कहा कि केजरीवाल ने शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन में भ्रामक दावा किया कि वह दो जून को आत्मसमर्पण करेंगे।

सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल को 1 जून तक के लिए अंतरिम जमानत दी थी। लेकिन उन्होेंने स्वास्थ्य के आधार पर अंतरिम जमानत की अवधि एक सप्ताह बढ़ाने का अनुरोध किया है। उनके वकील ने अदालत में कहा कि अरविंद केजरीवाल बीमार हैं और उन्हें उपचार की जरूरत है।

जवाब में ईडी ने कहा कि केजरीवाल ने अंतरिम जमानत की पूरी अवधि में प्रचार किया और देशभर में घूमे, वहीं अब वह अचानक दावा कर रहे हैं कि वह बीमार हैं। अंतरिम जमानत की अवधि बढ़ाने का विरोध करते हुए ईडी ने अदालत से कहा कि यदि मेडिकल टेस्ट्स की जरूरत होगी तो वह जेल के अंदर ही करा दिए जाएंगे साथ ही आवश्यकता पड़ने पर केजरीवाल को एम्स या अन्य अस्पताल में भी ले जाया जाएगा।

इस मामले में अदालत ने शनिवार को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया और अब कोर्ट अब 5 जून को अपना आदेश सुनाएगी। ऐसे में दिल्ली के मुख्यमंत्री को रविवार को आत्मसमर्पण करना होगा। विशेष न्यायाधीश कावेरी बावेजा ने यह कहते हुए अपना आदेश सुरक्षित रख लिया कि यह आवेदन मेडिकल ग्राउंड पर अंतरिम जमानत के लिए (दिया गया) था न कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा दी गई अंतरिम जमानत की अवधि को बढ़ाने के लिए।

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने 10 मई को मुख्यमंत्री को 21 दिन की अंतरिम जमानत दी थी ताकि वे लोकसभा चुनाव के दौरान अपनी पार्टी का प्रचार कर सकें। अदालत ने उन्हें सात चरणों वाले चुनाव के अंतिम चरण के खत्म होने के एक दिन बाद 2 जून को आत्मसमर्पण करने का निर्देश दिया था। जिसके बाद तिहाड़ जेल से रिहा होने के बाद केजरीवाल ने उत्तर प्रदेश, पंजाब, दिल्ली और महाराष्ट्र में प्रचार किया। कोर्ट द्वारा आदेश सुरक्षित रखे जाने के बाद केजरीवाल के वकील ने अदालत से शनिवार को ही आदेश पारित करने का आग्रह किया, क्योंकि उन्हें रविवार को आत्मसमर्पण करना है।

Advertisement