ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRद्वारका की हाईराइज बिल्डिंग में भीषण आग, चौथी मंजिल से कूदीं दादी-पोती; बुजुर्ग की मौत

द्वारका की हाईराइज बिल्डिंग में भीषण आग, चौथी मंजिल से कूदीं दादी-पोती; बुजुर्ग की मौत

दिल्ली के द्वारका की हाईराइज बिल्डिंग में भीषण आग लग गई। इससे बचने के लिए 82 वर्षीय बुजुर्ग महिला अपनी पोती के साथ चौथी मंजिल से कूद गई। इसमें वृद्धा की मौके पर ही मौत हो गई। पोती स्थिर है।

द्वारका की हाईराइज बिल्डिंग में भीषण आग, चौथी मंजिल से कूदीं दादी-पोती; बुजुर्ग की मौत
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 22 Feb 2024 05:52 AM
ऐप पर पढ़ें

द्वारका सेक्टर-10 स्थित छह मंजिला इमारत की चौथी मंजिल में बुधवार दोपहर को भीषण आग लग गई। बचने के लिए 82 वर्षीय बुजुर्ग महिला अपनी पोती के साथ चौथी मंजिल से कूद गई। इसमें वृद्धा की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 30 वर्षीय पोती की हालत स्थिर बनी हुई है। द्वारका साउथ थाना पुलिस के अनुसार फ्रिज में विस्फोट होने से आग लगने की बात सामने आई है। 

पुलिस अधिकारी ने बताया कि पैसिफिक सोसायटी की चौथी मंजिल पर 65 वर्षीय महेश आनंद अपनी बुजुर्ग मां जसुली देवी के साथ रहते हैं। आईडीबीआई बैंक से रिटायर महेश आनंद की पत्नी की पहले ही मौत हो चुकी है। उनकी बेटी पूजा पंत सॉफ्टवेयर इंजीनियर है और जापान में रहती है। दादी और पिता से मिलने के लिए वह जनवरी में दिल्ली आई और यहीं से वर्क फ्रॉम होम कर रही है।

बाहर से सेंट्रल लॉक लगाकर गया था बेटा 

पुलिस अधिकारी ने बताया कि दोपहर 11 बजे महेश आनंद पार्क में धूप सेकने चले गए। वह जाने से पहले दरवाजे का सेंट्रल लाक लगाकर गए थे। इसकी एक चाबी उनकी बुजुर्ग मां के पास रहती है। इसी दौरान फ्रिज के कम्प्रेसर में शॉर्ट सर्किट के कारण विस्फोट हो गया और तीन कमरों के फ्लैट में आग लग गई। जांच में सामने आया कि घबराहट में बुजुर्ग को चाबी नहीं मिली। वह पोती के साथ बालकनी पर पहुंच गईं और लोगों से जान बचाने की गुहार लगाने लगीं।

मां और बहन को पहले ही खो चुकी 

परिजनों ने बताया कि पूजा पंत की हालत स्थिर बनी हुई है। उनकी सॉफ्टवेयर इंजीनियर योगेश भट्ट से शादी हुई है। वे दोनों जापान में रहते हैं। कोविड के दौरान पूजा की मां की मौत हो चुकी थी। एक दुर्घटना में पूजा की बहन की भी मौत हो गई थी। अब इस हादसे में उन्होंने दादी को खो दिया।

दमकल के आने से पहले ही कूद गईं थी दोनों

दमकल के अधिकारी ने बताया कि करीब 1222 बजे आग लगने की सूचना मिली थी। दमकल की छह गाड़ियां रवाना की गईं। करीब 15 मिनट में दमकल के वाहन मौके पर पहुंच गए, लेकिन इससे पहले दादी-पोती कूद गईं थी। उन्हें आनन-फानन में स्थानीय निजी अस्पताल में ले जाया गया, जहां बुजुर्ग को मृत घोषित कर दिया गया। फिलहाल युवती की हालत स्थिर बनी हुई है।

पांचवें फ्लोर तक फैल गई थी लपटें

दमकल अधिकारी ने बताया कि आग को एक बजे पूरी तरह से बुझा दिया गया था। महेश आनंद के फ्लैट का सारा सामान जलकर राख हो गया। चौथी मंजिल से आग फैलकर पांचवीं मंजिल पर स्थित एक फ्लैट में पहुंच गई थी। स्थानीय चौकी प्रभारी एसआई बहादुर मीना की टीम ने इमारत में रहने वाले सभी लोगों को बाहर निकाल लिया था। इसी क्रम में जब पांचवें फ्लोर में आग फैली तब उसमें कोई नहीं था। फिलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया और फॉरेंसिक व क्राइम टीम ने घटनास्थल से सबूत जमा किए हैं। टीम को फ्रिज रखने वाले स्थान पर विस्फोट के सुराग भी मिले हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें