ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRयूट्यूबर की वजह से रेप की धमकी मिली, बिभव को मिला बेल तो मेरी जान को खतरा; कोर्ट में स्वाति मालीवाल

यूट्यूबर की वजह से रेप की धमकी मिली, बिभव को मिला बेल तो मेरी जान को खतरा; कोर्ट में स्वाति मालीवाल

ध्रुव राठी का नाम लिए बगैर मालीवाल ने कोर्ट ने कहा, 'एक यूट्यूबर जो पहले वॉलेन्टियर थे उन्होंने एक-तरफा वीडियो बनाया। इस वीडियो के बाद मुझे लगातार रेप और जान से मारने की धमकियां मिलने लगीं।'

यूट्यूबर की वजह से रेप की धमकी मिली, बिभव को मिला बेल तो मेरी जान को खतरा;  कोर्ट में स्वाति मालीवाल
Nishant Nandanलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 27 May 2024 03:24 PM
ऐप पर पढ़ें

AAP की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल (Swati Maliwal) ने सोमवार को दिल्ली स्थित तीस हजारी कोर्ट में कई बातें कहीं। बिभव कुमार की जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान स्वाति मालीवाल कोर्ट में ही रोईं भी और अपनी बात उन्होंने कोर्ट में रखते हुए अपनी जान को खतरा भी बताया। जब कोर्ट में बिभव कुमार के वकील ने कहा कि स्वाति मालीवाल ने 13 मई को जानबूझ कर सीएम अरविंद केजरीवाल के आवास में उस जगह को चुना जहां सीसीटीवी नहीं था तब स्वाति मालीवाल रोने लगीं।

इधर दिल्ली महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने अदालत में अपनी दलीलें रखते ट्रोल आर्मी को जमकर खरी-खोटी सुनाई। उन्होंने आरोप लगाया कि एक मशहूर यूट्यूबर की वजह से उन्हें रेप और जान से मारने की धमकियां मिलनी बढ़ गई हैं। उन्होंने कोर्ट से कहा कि अगर बिभव कुमार को जमानत दी जाती है तब मेरी जिंदगी और मेरे परिवार वालों की जिंदगी खतरे में पड़ जाएगी।

मालीवाल ने कोर्ट में कहा कि जब उन्होंने प्रताड़ना की शिकायत की तब लगातार उनहें बीजेपी एजेंट बताया जाने लगा। उन्होंने कहा, 'आप के पास ट्रोल करने वालों की फौज है। पार्टी की पूरी मशीनरी को इस काम में लगा दिया गया। मेरे खिलाफ लगातार प्रेस कॉन्फ्रेंस किए गए। बिभव कुमार सामान्य इंसान नहीं है।' यूट्यूबर ध्रुव राठी का नाम लिए बगैर स्वाति मालीवाल ने कोर्ट ने कहा, 'एक यूट्यूबर जो पहले वॉलेन्टियर थे उन्होंने एक-तरफा वीडियो बनाया। इस वीडियो के बाद मुझे लगातार रेप और जान से मारने की धमकियां मिलने लगीं।'

कोर्ट में बिभव कुमार की जमानत याचिका पर सुनवाई थी। इस दौरान बिभव कुमार की तरफ से अदालत में मौजूद सीनियर एडवोकेट हरिहरन ने कहा कि स्वाति मालीवाल के पास सीएम से मिलने का कोई अप्वाइंटमेंट नहीं था। उन्होंने कहा, 'क्या कोई इस तरह से कही भी घुस सकता है? यह सीएम का आवास है। एक सांसद के होने के नाते आप जब चाहें वहां चली जाएं इसका आपको लाइसेंस नहीं मिला है। उनकी तरफ से उकसावा था। वो यहां परेशानी खड़ा करने के बारे में सोच कर ही आई थीं।