DU s new admission norms to UG courses could have been announced earlier: Delhi High Court - डीयू के नए दाखिला मानदंड की पहले की जा सकती थी घोषणा : दिल्ली हाईकोर्ट DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीयू के नए दाखिला मानदंड की पहले की जा सकती थी घोषणा : दिल्ली हाईकोर्ट

delhi university

दिल्ली हाईकोर्ट ने शुक्रवार को कुछ याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए शुक्रवार को कहा कि विभिन्न स्नातक पाठ्यक्रमों के लिए दाखिला प्रक्रिया में बदलाव करने के दिल्ली विश्वविद्यालय के हालिया फैसले की घोषणा बहुत पहले की जा सकती थी।

जस्टिस अनु मल्होत्रा और जस्टिस तलवंत सिंह की बैंच ने कहा कि इसमें कोई विवाद नहीं है कि आपको समय के साथ तालमेल बिठाना है। शिक्षा मानकों की बेहतरी करने से कोई नहीं रोकता। कोई नहीं कह रहा कि आपका फैसला (संशोधन) सही नहीं है, लेकिन इसका समय शायद ठीक नहीं है।

बीकॉम (ऑनर्स) और बीए (ऑनर्स) अर्थशास्त्र सहित कई स्नातक पाठ्यक्रमों के लिए योग्यता मानदंड में संशोधन के दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के फैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए बैंच ने यह टिप्पणी की।

मामले पर दोनों पक्ष की दलीलें सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रखते हुए बैंच ने कहा कि क्या आप (डीयू) एक दिन पहले बदलाव कर सकते हैं? आप छात्रों को तीन महीने पहले नोटिस दे सकते थे।

अपने फैसले का बचाव करते हुए विश्वविद्यालय ने कहा कि वह हर साल पाठ्यक्रमों के लिए योग्यता मानदंड में बदलाव करता है और सूचना बुलेटिन केवल एक शैक्षाणिक वर्ष के लिए होता है। 

दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने मामले पर फैसला सुरक्षित रख लिया। डीयू में नामांकन के प्रक्रिया 30 मई को शुरू हुई और यह 14 जून को खत्म हो रही है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:DU s new admission norms to UG courses could have been announced earlier: Delhi High Court