ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRजिसे माना पिता उसी ने लूटी इज्जत, सगी बहन ने डर दिखा चुप करवाया; एक साल तक टरकाती रही पुलिस

जिसे माना पिता उसी ने लूटी इज्जत, सगी बहन ने डर दिखा चुप करवाया; एक साल तक टरकाती रही पुलिस

गाजियाबाद में एक युवती के साथ उसके मुंहबोले डॉक्टर पिता ने दरिंदगी की। उसने जब घटना की जानकारी बहन को दी तो उसने बेईज्जती का डर दिखाकर चुप रहने को कहा। पुलिस ने भी एक साल तक केस दर्ज नहीं किया।

जिसे माना पिता उसी ने लूटी इज्जत, सगी बहन ने डर दिखा चुप करवाया; एक साल तक टरकाती रही पुलिस
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,गाजियाबादFri, 03 May 2024 06:21 AM
ऐप पर पढ़ें

गाजियाबाद में एक युवती ने मुंहबोले डॉक्टर पिता पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। एक साल पुरानी घटना में मसूरी पुलिस ने डॉक्टर के खिलाफ केस दर्ज किया है। युवती के मुताबिक उसकी बड़ी बहन आरोपी डॉक्टर के यहां नौकरी करती है। घटना बताने पर बहन ने उसे चुप रहने को कहा। पुलिस आयुक्त से गुहार लगाने के बाद केस दर्ज हुआ। युवती का कहना है कि उसके माता-पिता का देहांत हो चुका है। पांच भाई-बहनों में उसकी बड़ी बहन वर्ष 2018 से पी एंड टी कॉलोनी राजनगर के सुमेधा टावर में रहने वाले डॉ. प्रमोद कुमार बंसल के यहां नौकरी करती है। इस दौरान उसकी बहन और डॉ. प्रमोद में नजदीकी हो गई। 

बहन ने कहा कि डॉ. प्रमोद परिवार का खर्च चलाएंगे और परिवार में पिता की भूमिका निभाएंगे। युवती का कहना है कि अनाथ होने के कारण सभी भाई-बहनों ने उन्हें पिता मान लिया और डैडी कहकर संबोधित करने लगे। डॉ. प्रमोद परिवार का खर्च उठाते थे और घुमाने भी ले जाते थे। युवती का कहना है कि 12 अप्रैल 2023 की शाम करीब छह बजे बड़ी बहन उसे गांव मटियाला में स्थित डॉ. प्रमोद के फार्म हाउस में ले गई। वहां डॉ. प्रमोद पहले से शराब पी रहा था। बहन ने उसे अंदर भेज दिया तो वह वहां गाने सुनने लगी।

युवती का आरोप है कि इसी दौरान डॉ. प्रमोद बंसल अंदर आया और दरवाजा बंद कर लिया और प्यार करने की बात कहते हुए उसके साथ अश्लील हरकत करनी शुरू कर दी। विरोध करने पर उसने उसे दबोच लिया और दुष्कर्म किया। युवती का कहना है कि वह रोती रही, लेकिन डॉ. प्रमोद बंसल नहीं माना। उसने बहन को बात बताई तो वह उसे घर ले गई। बहन ने कोई कार्रवाई नहीं की तो उसने चाचा-चाची से बताने के लिए कहा। इस पर बहन ने बेईज्जती का हवाला देते हुए चुप रहने का दबाव डाला।

पुलिस पर एक साल तक टरकाने का आरोप

युवती का कहना है कि उसने सिहानी गेट थाने की नासिरपुर चौची में शिकायत दी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। उल्टा पता लगने पर डॉ. प्रमोद ने उसके छोटे भाई की हत्या करने की धमकी दी। इसके बाद उसने सिहानी गेट थाने में शिकायत दी लेकिन वहां से पुलिस उसे मसूरी थाने ले आई। मसूरी पुलिस ने कार्रवाई के बजाय उल्टे उसपर पैसा ऐंठने के लिए रेप का झूठा केस बनाने का आरोप लगाया। शक-हारकर युवती ने पुलिस आयुक्त को शिकायत देकर कार्रवाई की गुहार लगाई, तब जाकर मसूरी पुलिस ने केस दर्ज किया।