DA Image
21 सितम्बर, 2020|1:06|IST

अगली स्टोरी

सीएम केजरीवाल का ऐलान- दिल्ली में प्लाज्मा थेरेपी के शुरुआती नतीजे अच्छे, आगे भी होते रहेंगे ट्रायल

jnu sedition case  arvind kejriwal said ask them to make a decision as soon as possible

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि दिल्ली में कोरोना के गंभीर हालत वाले मरीजों पर प्लाज्मा थेरेपी के शुरुआती नतीजे काफी अच्छे रहे हैं, इसलिए राजधानी में प्लाज्मा थेरेपी का ट्रायल आगे भी जारी रहेगा। 

केजरीवाल ने कहा कि केंद्र ने कहा है कि प्लाज्मा थेरेपी ट्रायल पर है और यह कोई अधिकारिक इलाज नहीं है। दिल्ली में प्लाज्मा ट्रायल जारी रहेगा क्योंकि हमें केंद्र की मंजूरी मिली हुई है। केजरीवाल ने इस बात पर भी खुशी जताई कि कोविड-19 संक्रमण के इलाज के बाद पूरी तरह स्वस्थ हुए मरीजों ने प्लाज्मा डोनेट करने के लिए सहमति जाहिर की है।

'दिल्ली में इस बार मिलेगा डबल राशन,छात्रों को लाने 40 बसें कोटा रवाना'

मुख्यमंत्री ने कहा कि एक मरीज जिसकी हालत गंभीर थी, उसे प्लाज्मा थेरेपी देने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। साथ ही उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार को केंद्र से लोक नायक जयप्रकाश (एलएनजेपी) अस्पताल में प्लाज्मा थेरेपी का क्लीनिकल ट्रायल ट्रायल करने की मंजूरी मिल गई है। उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली सरकार द्वारा बड़े पैमाने पर की जा रही जांच के चलते राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले ज्यादा हैं।

प्लाज्मा थेरेपी के अच्छे परिणाम मिल रहे हैं

केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार के बयान के बाद प्लाज्मा थेरेपी को लेकर भ्रम की स्थिति बन गई थी और उन्हें उन्हें लोगों के फोन आने शुरू हो गए थे कि क्या दिल्ली सरकार इसका ट्रायल रोक देगी। उन्होंने कहा कि हम प्लाज्मा थेरेपी के क्लीनिकल ट्रायल को नहीं रोकने वाले हैं। हमें थेरेपी के अच्छे परिणाम मिल रहे हैं। हालांकि, यह प्रायोगिक स्तर पर है। इस थेरेपी के परिणाम अब तक अंतिम नहीं हैं। हमें उम्मीद है कि हमें जल्द ही समाधान मिल जाएगा। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने कहा है कि जिन्हें प्लाज्मा थेरेपी ट्रायल करने को लेकर उसकी अनुमति प्राप्त है वे आगे बढ़ सकते हैं, लेकिन जिनके पास आवश्यक अनुमति नहीं है, उन्हें यह नहीं करना चाहिए। उन्होंने कोरोना से ठीक हुए 1,100 लोगों से जिंदगियां बचाने के लिए अपना प्लाज्मा दान करने की अपील की है।

लोग अपना प्लाज्मा दान करने के लिए तैयार

केजरीवाल ने कहा कि मुझे खुशी है कि कोविड-19 से ठीक हुए लगभग सभी लोग अपना प्लाज्मा दान करने के लिए तैयार हैं। मैं उन सभी को धन्यवाद देना चाहता हूं। दिल्ली में गुरुवार रात तक कोरोना के 3,515 मामले सामने आए जिनमें से 1,100 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और 2,362 लोगों का अब भी इलाज चल रहा है, जबकि अब तक 59 लोगों की मौत हो चुकी है। 

केजरीवाल ने कहा कि जब हम यह संख्या देखते हैं तो ऐसा लगता है कि दिल्ली में मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि दिल्ली में हम बड़े पैमाने पर टेस्ट कर रहे हैं। हम दिल्ली में प्रत्येक 10 लाख लोगों पर 2,300 कोविड-19 टेस्ट कर रहे हैं, जबकि देश में प्रत्येक 10 लाख लोगों पर करीब 500 लोगों की जांच हो रही है। केजरीवाल ने कहा कि सरकार और कंटेनमेंट जोन की पहचान कर रही है, लेकिन यह संख्या पिछले कुछ दिनों में घटी है। 

ज्ञात हो कि प्लाज्मा थेरेपी ट्रायल को लेकर केजरीवाल की इस घोषणा से कुछ दिन पहले केंद्र ने कहा था कि कोरोना वायरस मरीजों के इलाज के लिए प्लाज्मा थेरेपी का क्लीनिकल ट्रायल अभी शुरुआती चरण में है और इससे जीवन के लिए घातक जटिलताएं पैदा होने की आशंका है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Delhi will continue Plasma therapy trail says Arvind Kejriwal