ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदिल्ली में आज रात से फिर बिगड़ सकता है मौसम, पश्चिमी विक्षोभ के असर से 2 दिन बाारिश का अलर्ट

दिल्ली में आज रात से फिर बिगड़ सकता है मौसम, पश्चिमी विक्षोभ के असर से 2 दिन बाारिश का अलर्ट

वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग ने कहा कि भले ही पूर्वानुमान से पता चलता है कि आने वाले दिनों में एक्यूआई 'बहुत खराब' के आसपास रहने की संभावना है, लेकिन इसके दोबारा 'गंभीर' होने की संभावना नहीं है।

दिल्ली में आज रात से फिर बिगड़ सकता है मौसम, पश्चिमी विक्षोभ के असर से 2 दिन बाारिश का अलर्ट
Praveen Sharmaनई दिल्ली। एचटी संवाददाताWed, 29 Nov 2023 10:25 AM
ऐप पर पढ़ें

राजधानी दिल्ली में बारिश और तेज हवाओं के कारण मंगलवार को वायु गुणवत्ता में महत्वपूर्ण सुधार के एक दिन बाद बुधवार को भी दिल्ली के वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) में सुधार जारी रहा। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के राष्ट्रीय बुलेटिन के अनुसार, बुधवार सुबह 7.05 बजे दिल्ली की हवा में सुधार के साथ औसत AQI 258 (खराब) दर्ज किया गया, जबकि मंगलवार शाम 4 बजे 24 घंटे का औसत एक्यूआई 312 (बहुत खराब) पर था। दरअसल, मंगलवार शाम 6 बजे तक AQI पहले ही सुधरकर 294 हो गया था। औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक पिछले दो सप्ताह से काफी हद तक 'गंभीर' और 'बहुत खराब' श्रेणी के ऊपर के आसपास बना हुआ था।

वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (सीएक्यूएम) ने कहा कि भले ही पूर्वानुमान से पता चलता है कि आने वाले दिनों में एक्यूआई 'बहुत खराब' के आसपास रहने की संभावना है, लेकिन इसके दोबारा 'गंभीर' होने की संभावना नहीं है।

पूर्वानुमानों से पता चलता है कि बुधवार रात को एक और पश्चिमी विक्षोभ दिल्ली को प्रभावित कर सकता है, अगले दो दिनों में बूंदाबांदी की संभावना है।

मौसम विभाग (आईएमडी) ने कहा है कि भले ही वर्तमान पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव कम हो रहा है, एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ बुधवार देर रात और गुरुवार की सुबह दिल्ली को प्रभावित करेगा।

आईएमडी के वैज्ञानिक कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा, “राजस्थान के ऊपर भी एक चक्रवाती सर्कुलेशन बन रहा है और हवा की दिशा पूर्वी रहेगी, जिसका अर्थ है कि अगले दो दिनों में नमी दिल्ली की ओर आती रहेगी, बुधवार देर रात और गुरुवार सुबह बूंदाबांदी की संभावना है। दिल्ली में अगले दो दिनों में हल्का से मध्यम कोहरा भी दिखना चाहिए।''

एनसीआर में मंगलवार को हवा में सुधार को देखते हुए वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग को एक इमरजेंसी बैठक बुलाने के लिए प्रेरित किया और बाद में ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (जीआरएपी) चरण-3 या 'गंभीर' श्रेणी के तहत लगाए गए सभी प्रतिबंधों को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया। इसका मतलब है कि पूरे एनसीआर में एक बार फिर निजी निर्माण की अनुमति मिल गई है।

इसमें कहा गया है कि दिल्ली और पड़ोसी गुरुग्राम, फरीदाबाद, गाजियाबाद और गौतम बुद्ध नगर में बीएस-III पेट्रोल और बीएस-IV डीजल चार पहिया वाहनों के चलने पर प्रतिबंध भी हटा दिया गया है।

चरण-3 के प्रतिबंध खत्म किए जाने के बाद एनसीआर में अब जिन अन्य कामों की अनुमति दी गई है, उनमें खनन गतिविधियों को फिर से शुरू करने के साथ-साथ स्टोन क्रशर चलाना भी शामिल है। सीएक्यूएम ने स्पष्ट किया कि जिन निर्माण और विध्वंस (सी एंड डी) साइटों को उल्लंघन के कारण विशिष्ट बंद करने के आदेश जारी किए गए थे, उन्हें काम फिर से शुरू करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

सीएक्यूएम द्वारा ग्रैप चरण-3 के प्रतिबंध 2 नवंबर को लागू किए गए थे, जब इस सीजन में पहली बार एक्यूआई 400 को पार कर गया था। स्टेज-4 या 'गंभीर प्लस' श्रेणी के उपायों को 5 नवंबर को लागू किया गया था, लेकिन उस अवधि के दौरान AQI में मामूली सुधार के बाद 18 नवंबर को इसे हटा दिया गया था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें