ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRDelhi Weather : मौसम विभाग ने दिल्लीवालों को दी गुड न्यूज, अगले 7 दिन कैसा रहेगा हाल

Delhi Weather : मौसम विभाग ने दिल्लीवालों को दी गुड न्यूज, अगले 7 दिन कैसा रहेगा हाल

दिल्लीवालों के लिए इस बार तपिश भरी गर्मियों का मौसम लंबा खिंच गया। लगभग 40 दिनों तक झुलसाने वाली गर्मियों का सामना करना पड़ा, लेकिन हल्के बादलों की मौजूदगी और बूंदाबांदी के चलते अब मौसम बेहतर हुआ है।

Delhi Weather : मौसम विभाग ने दिल्लीवालों को दी गुड न्यूज, अगले 7 दिन कैसा रहेगा हाल
Praveen Sharmaनई दिल्ली। हिन्दुस्तानMon, 24 Jun 2024 07:10 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली एनसीआर के लोगों को झुलसाने वाली लू अब दोबारा परेशान नहीं करेगी। मौसम विभाग का अनुमान है कि लगातार बादलों की आवाजाही और हल्की बूंदाबांदी से मौसम सामान्य बना रहेगा। इस बीच, रविवार को भी दिल्ली के अलग-अलग क्षेत्रों में बूंदाबांदी हुई। दिल्ली के लोगों के लिए इस बार तपिश भरी गर्मियों का मौसम लंबा खिंच गया। लगभग 40 दिनों तक लगातार झुलसाने वाली गर्मियों का सामना करना पड़ा, लेकिन हल्के बादलों की मौजूदगी और बूंदाबांदी के चलते अब मौसम अपेक्षाकृत बेहतर हुआ है।

सफदरजंग मौसम केंद्र में अधिकतम तापमान 39.8 डिग्री दर्ज किया गया जो सामान्य से एक डिग्री अधिक है। न्यूनतम तापमान 29.6 डिग्री रहा जो सामान्य से दो डिग्री ज्यादा है। रविवार को दिन में पालम मौसम केंद्र में सबसे ज्यादा 6.9 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। आयानगर में 1.2 और सफदरजंग में 0.6 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई। मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले सप्ताह भर मौसम के अलग-अलग सिस्टम की मौजूदगी बनी रहेगी।

वायु गुणवत्ता सूचकांक के स्तर में आया सुधार

मौसम में हुए बदलाव से जहां तापमान में गिरावट दर्ज की गई है, वहीं दिल्ली की हवा में मौजूद प्रदूषक कण भी इससे काफी हद तक साफ हो गए हैं। केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक रविवार को दिल्ली का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 148 के अंक पर रहा। इस स्तर की हवा को मध्यम श्रेणी में रखा जाता है।

हीट स्ट्रोक के तीन नए मरीज भर्ती, एक की मौत

वहीं, दिल्ली में शनिवार को हीट स्ट्रोक के तीन नए मरीज भर्ती हुए। वहीं, सफदरजंग अस्पताल में एक मरीज की मौत हो गई। सफदरजंग अस्पताल के हीट स्ट्रोक वार्ड में रविवार तक कुल 15 मरीज भर्ती थे। इनमें 10 मरीज गंभीर हालत में वेंटिलेटर पर हैं। डॉक्टरों का कहना है कि आने वाले समय में गर्मी और उमस बढ़ने से हीट स्ट्रोक के मरीजों की संख्या में इजाफा हो सकता है। डॉक्टरों ने लोगों को खूब पानी पीने और पसीना ज्यादा न बहने से बचने की सलाह दी। सफदरजंग अस्पताल में मार्च से अभी तक गर्मी की वजह से 91 मरीज भर्ती किए गए हैं। इनमें 16 जून से 21 जून तक चार दिनों में ही 69 मरीज भर्ती हुए हैं। एक जून से अब तक हीट स्ट्रोक की वजह से कुल 30 लोगों की मौत हो चुकी है।