ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRवजन-बीपी घट गया, अस्पताल में भर्ती करने की जरुरत; आतिशी की जांच कर क्या बोले डॉक्टर

वजन-बीपी घट गया, अस्पताल में भर्ती करने की जरुरत; आतिशी की जांच कर क्या बोले डॉक्टर

मेडिकल जांच के बाद डॉक्टर ने बताया कि जब आतिशी अनशन पर बैठी थीं तब उनका वजन 65.8 किलोग्राम था जो आज 63.6 किलोग्राम है। उनका वजन लगातार घट रहा है। उनका आरवीएस भी लगातार कम हो रहा है।

वजन-बीपी घट गया, अस्पताल में भर्ती करने की जरुरत; आतिशी की जांच कर क्या बोले डॉक्टर
Nishant Nandanलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 24 Jun 2024 03:05 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली में पानी की किल्लत अभी खत्म नहीं हुई है। दिल्ली की प्यास बुझाने के लिए केजरीवाल सरकार की मंत्री आतिशी भूख हड़ताल पर हैं। अनिश्चितकालनी अनशन के चौथे दिन चिकित्सकों ने आतिशी का मेडिकल चेकअप किया है। इस चेकअप के बाद आतिशी का मेडिकल बुलेटिन जारी करते हुए डॉक्टरों ने कहा कि आतिशी को अस्पताल में भर्ती किए जाने की जरुरत है लेकिन उन्होंने मना कर दिया।

आतिशी का चिकित्सीय जांच करने के बाद चिकित्सकों ने बताया कि उनका ब्लड प्रेशर 110/70 है और वजन 63.6 किलोग्राम है। डॉक्टर ने बताया कि जब आतिशी अनशन पर बैठी थीं तब उनका वजन 65.8 किलोग्राम था जो आज 63.6 किलोग्राम है। उनका वजन लगातार घट रहा है। उनका आरवीएस भी लगातार कम हो रहा है। उनका बीपी भी काफी कम हो चुका है। आतिशी का किटोन लेवल भी बढ़ गया है। 

दिल्ली की जल मंत्री का मेडिकल परीक्षण लोक नायक अस्पताल से आई चिकित्सकों की एक टीम ने की है। चिकित्सकों ने बताया कि आतिशी को अस्पताल में भर्ती होने और मौखिक सेवन का परामर्श दिया गया है लेकिन उन्होंने अस्पताल में भर्ती होने से इनकार कर दिया है। 

आतिशी का स्वास्थ्य बिगड़ रहा - गोपाल राय

आतिशी जंगपुरा के भोगल में भूख हड़ताल पर बैठी हैं। आतिशी का कहना है कि जब तक दिल्ली में पानी की समस्या को दूर नहीं किया जाता है तब तक वो अनशन पर बैठी रहेंगी। इधऱ सोमवार को दिल्ली सरकार के मंत्रियों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर उनसे राष्ट्रीय राजधानी में जलसंकट का प्राथमिकता के आधार पर समाधान करने की अपील की है। दिल्ली के मंत्री गोपाल राय ने कहा कि  दिल्ली की मंत्री आतिशी की अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल का आज चौथा दिन है और उनका स्वास्थ्य बिगड़ रहा है।

उन्होंने कहा, ‘‘हम दिल्ली के उपराज्यपाल वी के सक्सेना और सभी अधिकारियों को भी जल प्रवाह मानक की ‘रीडिंग’ और यमुना नदी के जलस्तर को देखने के वास्ते वजीराबाद, बवाना साथ चलने का निमंत्रण देते हैं। हरियाणा द्वारा छोड़े गये पानी पर आंकड़ा उपलब्ध है और वे स्वयं देख सकते हैं कि पानी कैसे कम हो गया है।’’

Advertisement