ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR'हमने तो हर कोशिश कर ली', दिल्ली के जल संकट पर केजरीवाल के मंत्रियों ने PM नरेंद्र मोदी को लिख दी चिट्ठी

'हमने तो हर कोशिश कर ली', दिल्ली के जल संकट पर केजरीवाल के मंत्रियों ने PM नरेंद्र मोदी को लिख दी चिट्ठी

दिल्ली में दिन-प्रतिदिन और गंभीर हो रहा जल संकट का मामला अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दरबार तक जा पहुंचा है। दिल्ली के मंत्रियों ने आज पीएम को पत्र लिख इस समस्या का समाधान कराने की गुहार लगाई है।

'हमने तो हर कोशिश कर ली', दिल्ली के जल संकट पर केजरीवाल के मंत्रियों ने PM नरेंद्र मोदी को लिख दी चिट्ठी
Praveen Sharmaनई दिल्ली। लाइव हिन्दुस्तानMon, 24 Jun 2024 12:36 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली में दिन-प्रतिदिन और गंभीर हो रहा जल संकट का मामला अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दरबार तक जा पहुंचा है। दिल्ली के चार कैबिनेट मंत्रियों ने सोमवार को प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर इस समस्या का समाधान कराने की गुहार लगाई है। दिल्ली के मंत्रियों-  गोपाल राय, सौरभ भारद्वाज, कैलाश गहलोत और इमरान हुसैन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र में हरियाणा से दिल्ली के हिस्से का 100 एमजीडी पानी प्राथमिकता के आधार पर दिलवाने में हस्तक्षेप करने का आग्रह किया है।

'आप' सरकार के मंत्रियों ने पत्र में लिखा, ''दिल्ली में इस वर्ष भयंकर गर्मी के चलते पानी का एक बहुत बड़ा संकट पैदा हो गया है। दिल्ली में ऐसी गर्मी पिछले दशक में भी नहीं पड़ी, जिसकी वजह से दिल्लीवाले बूंद-बूंद पानी को तरस गए हैं। इस तपती गर्मी में दिल्लीवालों की पानी की जरूरत भी बढ़ी गई है। ऐसे समय में दिल्ली को अतिरिक्त पानी की जरूरत है। दिल्ली पानी के लिए पूरी तरह से हरियाणा और उत्तर प्रदेश पर निर्भर है। दुर्भाग्य की बात यह है कि दिल्लीवालों को अधिक मात्रा में पानी मिलना तो दूर, हमें अपने हक का आवंटित पानी भी हरियाणा से नहीं मिल पा रहा है।'' 

मंत्रियों ने पत्र में बताया है, ''दिल्ली में कुल पानी सप्लाई 1005 एमजीडी है। इसमें से एक बड़ा हिस्सा 613 एमजीडी पानी हरियाणा से आता है। पिछले कई सप्ताह से हरियाणा से आने वाले पानी में कमी हो गई है। कई दिनों से दिल्ली को 100 एमजीडी पानी कम मिल रहा है दिल्ली में 1 एमजीडी पानी एक दिन में करीब 28,500 लोगों की जरूरत को पूरी करता है। इसका मतलब 100 एमजीडी पानी की कमी से 28 लाख लोगों को पानी नहीं मिल रहा है। जहां हमें अतिरिक्त पानी की आवश्यकता थी, वहीं हमें हरियाणा से कम पानी आने से 28 लाख लोगों को पानी मिलना बंद हो गया है।''

मंत्रियों ने आगे लिखा है कि दिल्ली सरकार ने दिल्ली की पानी की कमी को दूर करने के लिए हर संभव कोशिश कर ली है। हरियाणा के मुख्यमंत्री को पत्र लिखा, केंद्रीय जल मंत्री से मिलने की कोशिश की। हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री से पानी की गुहार लगाई। हिमाचल अतिरिक्त पानी दिल्ली को देने के लिए तैयार है, जो यमुना में हरियाणा से होते हुए दिल्ली आएगा। मगर हरियाणा वो पानी भी हमको देने से इनकार कर रहा है। हमने अपनी मांगों को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा भी खटखटाया। सुप्रीम कोर्ट ने भी माना कि दिल्ली में पानी का संकट है, पर उसके बावजूद हरियाणा सरकार ने दिल्लीवालों को 100 एमजीडी पानी नहीं दिया। हमने हर संभव प्रयास कर लिया। अब आप ही बताइए इन सब प्रयासों के बाद हमारे पास क्या विकल्प बच जाता है?

उन्होंने आगे लिखा कहा कि हरियाणा से पानी आना अब बहुत ज्यादा जरूरी हो चुका है, वरना दिल्ली में त्राही-त्राही मच जाएगी। दिल्ली को अपने हक का 100 एमजीडी पानी मिलना अत्यंत आवश्यक है, जिसके लिए हमारी दिल्ली की जल मंत्री आतिशी जी 21 जून से अनशन पर बैठी हैं। हमारी आपसे गुजारिश है कि आप इस समस्या को प्राथमिकता दें और इस संकट का कोई समाधान जल्द से जल्द निकालें, जिससे दिल्ली से जल संकट दूर हो सके।