ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRसंसद और केंद्र सरकार की इमारतों के पास मंडराया पैरामोटर, VIDEO वायरल, क्या है सच्चाई?

संसद और केंद्र सरकार की इमारतों के पास मंडराया पैरामोटर, VIDEO वायरल, क्या है सच्चाई?

दिल्ली में स्कूलों को बम से उड़ाने की धमकी के बीच बुधवार को संसद और केंद्र सरकार की इमारतों के पास विजय चौक इलाके में एक पैरामोटर मंडराने का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

संसद और केंद्र सरकार की इमारतों के पास मंडराया पैरामोटर, VIDEO वायरल, क्या है सच्चाई?
Krishna Singhलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 01 May 2024 07:52 PM
ऐप पर पढ़ें

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में स्कूलों को बम से उड़ाने की धमकी के बीच बुधवार को संसद और केंद्र सरकार की इमारतों के पास विजय चौक इलाके में एक पैरामोटर मंडराता नजर आने से हड़कंप मच गया। बड़ी संख्या में लोग इस पैरामोटर को देखने के लिए जमा हो गए। साथ ही अटकलों का बाजार गर्म हो गया। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। क्या है इसकी सच्चाई इस रिपोर्ट में जानें...

समाचार एजेंसी एएनआई ने भी पैरामोटर के मंडराने का वीडियो वायरल जारी किया है। एएनआई ने एक्स पर बताया कि यह राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड यानी एनएसजी की ड्रिल का हिस्सा था। यह वीडियो ऐसे वक्त में वायरल हो रहा है जब राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में स्कूलों को बम से उड़ाने की धमकी के ई-मेल मिले हैं। इन धमकियों के बाद दिल्ली पुलिस ने राष्ट्रीय राजधानी के विभिन्न हिस्सों में सुरक्षा बढ़ा दी है।

उल्लेखनीय है कि बुधवार को दिल्ली के कई नामी-गिरामी स्कूल सहित करीब 100 से ज्यादा स्कूलों को बम से उड़ाने की धमकी भरा ई-मेल आने से हड़कंप मच गया। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची बम निरोधक दस्ता, स्वान दस्ता और दमकल कर्मियों की टीम को बुला आनन-फानन में स्कूलों में सघन तलाशी अभियान चलाया गया। करीब सात घंटों की जांच के बाद पुलिस ने इसे झूठा (हॉक्स) करार दिया। 

स्कूलों से सूचना मिलने पर परेशान अभिभावक बच्चों को लेकर स्कूल पहुंचे। इससे राजधानी में जगह जगह जाम लग गया। पुलिस ने मामले की जांच आरंभ कर दी है। पुलिस का कहना है कि इस तरह से एक साथ इतने स्कूलों को ई-मेल भेज धमकी देने के पीछे की मंशा अफरा-तफरी (पैनिक) फैलाने की थी। पुलिस अधिकारियों के अनुसार, उनको तमाम स्कूलों में चलाए तलाशी अभियान में कोई संदिग्ध चीज नहीं मिली है।