ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRकहीं जली लाशें तो कहीं खंडहर बनी इमारत, एक साथ दो अग्निकांड से धधक उठी दिल्ली, 7 मासूमों समेत 10 की दर्दनाक मौत

कहीं जली लाशें तो कहीं खंडहर बनी इमारत, एक साथ दो अग्निकांड से धधक उठी दिल्ली, 7 मासूमों समेत 10 की दर्दनाक मौत

दिल्ली में दो दर्दनाक हादसे हो गए हैं जिसमें 7 नवजात बच्चों को मिलाकर 10 लोगों की मौत हो गई है। इसके अलावा कई लोग घायल हो गए हैं।

कहीं जली लाशें तो कहीं खंडहर बनी इमारत, एक साथ दो अग्निकांड से धधक उठी दिल्ली, 7 मासूमों समेत 10 की दर्दनाक मौत
delhi fire
Aditi Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 26 May 2024 10:23 AM
ऐप पर पढ़ें

रविवार की सुबह दिल्लीवालों के लिए एक साथ दो बुरी के साथ हुई है। दिल्ली में दो दर्दनाक हादसे हो गए हैं जिसमें 7 नवजात बच्चों को मिलाकर 10 लोगों की मौत हो गई है। दरअसल दिल्ली के दो अलग-अलग इलाकों में भीषण आग लगने की खबर सामने आई है जिसमें 10 लोगों की मौत हो गई। एक घटना विवेक विहार के एक चाइल्ड केयर यूनिट की है जबकि दूसरी घटना में आग कृष्णानगर इलाके में मौजूद 4 मंजिला इमारत के पार्किंग में लगी। यह आग इतनी भीषण थी कि पार्किंग से आग सीधा एक मंजिला इमारत तक फैल गई और फिर ऊपर मंजिल तक धुआं भर गया। 

दिल्ली फायर सर्विस (डीएफएस) के प्रमुख अतुल गर्ग ने बताया, हमें कृष्णा नगर में देर रात दो बजकर 35 मिनट पर आग लगने की सूचना मिली। सुबह सात बजकर 20 मिनट पर आग पर काबू पाया गया। दमकल की कुल पांच गाड़ियां मौके पर भेजी गईं। कुल 13 लोगों को मकान से बाहर निकाला गया लेकिन तीन की मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक फायर ब्रिगेड के कर्मचारी जब मौके पर पहुंचे तो उन्हें पहली इमारत में एक जला हुआ शव मिला था। इसके बाद ऊपरी फ्लोर से बाकी लोगों को रेस्क्यू किया गया। इन्हें तुरंत अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया लेकिन इनमें से दो को मृत घोषित कर दिया गया। इस घटना में जिन तीन लोगों की मौत हुई है उनकी उम्र 66, 18 और 34 बताई जा रही है। 

विवेक विहार में भी दर्दनाक हादसा

 पूर्वी दिल्ली के विवेक विहार में बच्चों के एक अस्पताल में आग लगने से सात नवजात शिशुओं की मौत हो गई।  दिल्ली फायर सर्विस (डीएफएस) के अधिकारियों ने बताया कि शनिवार रात शाहदरा क्षेत्र के विवेक विहार में बच्चों के एक अस्पताल में आग लग गई। आ की लपटें इतनी भीषण थी कि इसकी आंच आसपास की इमारतों तक भी पहुंच गई। हालांकि गनीमत रही कि वहां किसी भी तरह का हानि नहीं हुई। लेकिन चाइल्ट केयर अस्पताल को इस आग ने खंडर बना दिया। 

डीएफएस प्रमुख अतुल गर्ग ने बताया कि   12 शिशुओं को अस्पताल से निकाला गया लेकिन उनमें से सात की मौत हो गई। गर्ग ने बताया कि पांच शिशुओं का एक अन्य अस्पताल में इलाज किया जा रहा है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि ‘बेबी केयर न्यू बोर्न हॉस्पिटल’ और उससे सटी एक इमारत में शनिवार देर रात करीब साढ़े 11 बजे आग लगी। अन्य लोगों की मदद से बच्चों को अस्पताल से बाहर निकाला गया और दूसरे अस्पताल में भर्ती कराया गया। उन्होंने बताया कि दूसरे अस्पताल ले जाने पर छह शिशुओं को मृत घोषित कर दिया गया जबकि एक नवजात की इलाज के दौरान मौत हो गयी।

शिशुओं के शवों को पोस्टमार्टम के लिए जीटीबी हॉस्पिटल ले जाया गया है। पुलिस ने बताया कि अस्पताल के मालिक की पहचान नवीन किची के तौर पर की गयी है और उसके खिलाफ कार्रवाई शुरू की जा रही है।