DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली: कंधा टकराने के बाद शुरू हुआ विवाद, किशोर की चाकू मारकर हत्या

teenager killed in delhi

नबी करीम इलाके में रविवार रात कंधा टकराने को लेकर शुरू हुए विवाद में युवकों ने दो किशोरों को चाकू मार दिया। घटना में एक किशोर की मौत हो गई, जबकि दूसरे की हालत गंभीर बनी हुई है। पुलिस ने हत्या और हत्या के प्रयास की धारा में एफआईआर दर्ज कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के अनुसार, 17 साल का यासीन अपने दो भाइयों के साथ अमरपुरी इलाके में रहता था। वह मूलरूप से बदायूं के सहसवां का रहने वाला था। वह नबी करीब में परिवार के अन्य लोगों के साथ लेडीज पर्स बनाने का काम करता था। यासीन के बहन-बहनोई भी इलाके में ही रहते हैं। रविवार रात यासीन अपने चचेरे भाई शादाब के साथ बहन के घर के बाहर खड़ा था। तभी यासीन का सगा भाई दानिश और बुआ का बेटा फरमान भी वहां आ गए। कुछ देर बाद चारों बहन के घर में जाने लगे। इसी बीच सीढ़ियों से मोहम्मद रिजवान नीचे उतर रहा था। तभी रिजवान का कंधा दानिश से टकरा गया। इस पर रिजवान उसे अपशब्द कहने लगा। बात इस हद तक बढ़ गई कि रिजवान हाथापाई पर उतर आया। फरमान ने बीच-बचाव करने की कोशिश की। तभी रिजवान का दोस्त शाहनवाज भी सब्जी खरीदकर लौट रहा था। वह भी झगड़े में कूद गया।

बीच-बचाव करने में चाकू मारा
यासीन और शादाब ने सभी को समझाने की कोशिश की, लेकिन मामला बिगड़ता चला गया। इस बीच शाहनवाज ने सब्जी वाले झोले से चाकू निकाला और फरमान पर हमला कर दिया। यासीन भाई फरमान को बचाने लगा, तभी शाहनवाज ने यासीन के पेट में चाकू घोप दिया। इसके बाद शाहनवाज ने शादाब पर हमला कर दिया। इससे शादाब की बाईं आंख के बगल से चाकू निकल गया। यासीन को लहूलुहान हालत में पड़ा देख दोनों आरोपी भाग गए। स्थानीय लोगों ने दोनों किशोरों को गंभीर हालत में लेडी हार्डिंग अस्पताल में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान यासीन की मौत हो गई। वहीं, फरमान को आईसीयू में रखा गया है। पुलिस ने परिजनों की शिकायत पर हत्या की धारा में एफआईआर दर्ज कर ली। जांच अधिकारी एसएचओ राम निवास की टीम ने घटना के करीब चार घंटे के भीतर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

बहन ने खाने पर बुलाया था
यासीन की बहन निशा और बहनोई मोहम्मद वसीम अमरपुरी में रहते हैं, इसलिए यासीन अपने दो भाइयों और अन्य रिश्तेदारों के साथ इसी इलाके में एक माह पहले ही रहने आया था। रविवार रात निशा ने अपने भाइयों को खाने पर बुलाया था। हालांकि, घर पहुंचने से पहले ही उनके साथ हादसा हो गया। हमले की खबर सुनते ही निशा बदहवास होकर नीचे आई और अपने भाइयों के शरीर से बह रहे खून को बंद करने के लिए दुपट्टा बांध दिया। खून से लथपथ हालत में वह भाइयों को अस्पताल में ले गई, लेकिन यासीन को बचाया नहीं जा सका।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Delhi : teenager killed after shoulder collision in nabi kareem area