ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदिल्ली का सिग्नेचर व्यू अपार्टमेंट होगा ध्वस्त, DDA ने कंसलटेंट नियुक्ति का प्रस्ताव निकाला

दिल्ली का सिग्नेचर व्यू अपार्टमेंट होगा ध्वस्त, DDA ने कंसलटेंट नियुक्ति का प्रस्ताव निकाला

ट्विन टावर की तर्ज पर दिल्ली का सिग्नेचर व्यू अपार्टमेंट ध्वस्त किया जाएगा। ध्वस्तिकरण के लिए कंसलटेंट नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू हो गई है। डीडीए ने ई-टेंडर के जरिए आवेदन मांगें हैं।

दिल्ली का सिग्नेचर व्यू अपार्टमेंट होगा ध्वस्त, DDA ने कंसलटेंट नियुक्ति का प्रस्ताव निकाला
Krishna Singhराहुल मानव,नई दिल्लीSat, 04 Nov 2023 06:51 PM
ऐप पर पढ़ें

असुरक्षित घोषित हो चुके मुखर्जी नगर के सिग्नेचर व्यू अपार्टमेंट को ध्वस्त करने के लिए कंसलटेंट नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू हो गई है। दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने ई-टेंडर के जरिए आवेदन मांगे हैं। डीडीए के अनुसार इच्छुक एजेंसियों के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 15 नवंबर है। 16 नवंबर को डीडीए टेक्निकल बिड खोलेगा। इसके बाद योग्य बोली लगाने वाली एजेंसी को जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। बोली लगाने वाली सभी एजेंसियों का मूल्यांकन करने के बाद कंसलटेंट नियुक्त होगा। 

हर कदम के बारे में मिलेगी जानकारी
उधर, अपार्टमेंट के आरडब्ल्यूए ने मांग है कि इमारत के ध्वस्त करने और नए फ्लैटों के निर्माण की सभी प्रक्रिया में आरडब्ल्यूए व फ्लैट के निवासियों को शामिल किया जाए। इससे पारदर्शिता बनी रहेगी और निवासियों को सभी हर कदम के बारे में जानकारी प्राप्त होगी। 

100 परिवार खाली कर चुके हैं अपार्टमेंट
सिग्नेचर व्यू अपार्टमेंट के आरडब्ल्यूए अध्यक्ष अमरेंद्र कुमार राजेश ने कि बताया कि अभी तक 336 में से 100 परिवार अपार्टमेंट को खाली कर चुके हैं। नए फ्लैटों के निर्माण और अपार्टमेंट को ध्वस्त करने के लिए 150 परिवारों ने सहमति दे दी है। इस मामले में लोगों की सहमति के लिए अपार्टमेंट में कैंप लगाए जा रहे हैं। 70 से 75 फीसदी निवासियों के सहमत होने के बाद डीडीए के समक्ष एक सिफारिश लेकर जाएंगे। इसमें मांग होगी कि डीडीए की ओर से अपार्टमेंट के निवासियों के लिए तैयार किए गए समझौते के क्लॉज में  बदलाव किए जाएं। इसके बाद निवासी समझौते पर हस्ताक्षर करेंगे। 

समझौते पर आरडब्ल्यूए की मांग पर डीडीए करे फैसला
अमरेंद्र ने बताया कि आरडब्ल्यूए की मांग है कि अपार्टमेंट के कुल 336 परिवारों में से 70 से 75 फीसदी के समझौते पर हस्ताक्षर करने के बाद सभी को रेंट मिलना शुरू हो जाए। डीडीए अपनी प्राधिकरण की सदस्य निकाय की बैठक में इस संबंध में जल्द फैसला ले। दिसंबर से सभी निवासियों को रेंट देना शुरू कर दिया जाए। समझौते के अनुसार डीडीए अपार्टमेंट के ध्वस्त होने की प्रक्रिया के दौरान से लेकर नए फ्लैटों के निर्माण तक निवासियों को रेंट मुहैया कराएगा। उन्होंने कहा इस संबंध में उपराज्यपाल तुरंत डीडीए की बैठक करते हुए फैसला लें। 

छह माह से अधिक समय लगेगा ध्वस्तीकरण में
डीडीए के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कंसलेंट नियुक्त होते ही अपार्टमेंट को ध्वस्त करने की विभिन्न प्रणाली पर काम होगा। इसके ध्वस्तीकरण में छह माह से अधिक का समय लगेगा। उसके बाद एक वर्ष से अधिक समय में नए फ्लैटों का निर्माण कार्य को पूरा करने की योजना है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें