DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › दिल्ली दंगा मामला:उमर खालिद की जमानत याचिका पर 27 जुलाई को सुनवाई
एनसीआर

दिल्ली दंगा मामला:उमर खालिद की जमानत याचिका पर 27 जुलाई को सुनवाई

प्रमुख संवाददाता, नई दिल्ली Published By: Shivendra Singh
Thu, 15 Jul 2021 07:59 PM
दिल्ली दंगा मामला:उमर खालिद की जमानत याचिका पर 27 जुलाई को सुनवाई

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में गत वर्ष हुए साम्प्रदायिक दंगों की साजिश के आरोपी जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद की तरफ से अदालत में जमानत याचिका दाखिल की गई है। अदालत ने खालिद की याचिका पर सुनवाई के लिए 27 जुलाई की तारीख मुकर्रर की है।

कड़कड़डूमा स्थित अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अमिताभ रावत की अदालत ने खालिद की जमानत याचिका पर अभियोजन पक्ष से अगली सुनवाई पर जवाब देने को कहा हे। ज्ञात रहे कि खालिद को उत्तरपूर्वी दिल्ली दंगे की साजिश मामले में सख्त गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) कानून (यूएपीए) के तहत गिरफ्तार किया गया है। वरिष्ठ अधिवक्ता त्रिदीप पाइस ने इस मामले में आरोपी खालिद की तरफ से अदालत में जमानत याचिका दाखिल की है। इस मामले में खालिद समेत कई अन्य के खिलाफ आतकंवाद रोधी कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है।

उल्लेखनीय है, कि इन सभी पर फरवरी 2020 हिंसा का मास्टरमाइंड होने का आरोप है। इन दंगों में 53 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि करीब 700 लोग घायल हुए थे। दिल्ली पुलिस ने इन दंगों की साजिश के तहत उमर खालिद के अलावा, जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्र आसिफ इकबाल तन्हा, जेएनयू छात्राएं नताशा नरवाल और देवांगना कालिता, जामिया समन्वयन समिति की सदस्य सफूरा जरगर, आप के पूर्व पार्षद ताहिर हुसैन और कई अन्य के खिलाफ भी इस संबंध में सख्त कानून के तहत मामला दर्ज किया है।

हाल हर में दिल्ली उच्च न्यायालय ने इस मामले में तन्हा, नरवाल और कालिता को यह कहते हुए जमानत दे दी कि सरकार ने असहमति को दबाने के लिए विरोध के अधिकार और आतंकवादी गतिविधि के बीच के फर्क को मिटा दिया है। इस आदेश के बाद ही अन्य आरोपियों ने अदालत में जमानत के लिए याचिका दायर करना शुरु कर दिया है। खालिद की तरफ से कहा गया है कि उसे झूठे मामले में फंसाया जा रहा है।

संबंधित खबरें