ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRDelhi Pollution Updates: गैस चैंबर बनी रही दिल्ली, नहीं हुए सूरज के दर्शन; 10 दिन हालात सुधरने के आसार नहीं

Delhi Pollution Updates: गैस चैंबर बनी रही दिल्ली, नहीं हुए सूरज के दर्शन; 10 दिन हालात सुधरने के आसार नहीं

शनिवार को दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक 412 रहा, जो गंभीर श्रेणी में आता है। शनिवार को दिनभर दिल्ली गैस चैंबर बनी रही और दोपहर में सूरज के दर्शन तक नहीं हुए

Delhi Pollution Updates: गैस चैंबर बनी रही दिल्ली, नहीं हुए सूरज के दर्शन; 10 दिन हालात सुधरने के आसार नहीं
Swati Kumariहिंदुस्तान,नई दिल्लीSat, 04 Nov 2023 06:26 PM
ऐप पर पढ़ें

Delhi Pollution AQI Updates:  राजधानी दिल्ली में ग्रैप का तीसरा चरण लागू होने के बाद से प्रदूषण में मामूली कमी देखने को मिल रही है, लेकिन हालात अभी गंभीर बने हुए हैं। शनिवार को दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक 412 रहा, जो गंभीर श्रेणी में आता है। शनिवार को दिनभर दिल्ली गैस चैंबर बनी रही और दोपहर में सूरज के दर्शन तक नहीं हुए। विशेषज्ञों का मानना है कि अगले छह दिनों तक राजधानी में प्रदूषण बेहद गंभीर श्रेणी या गंभीर श्रेणी में रहने की संभावना है। 

दिल्ली में बीते गुरुवार को प्रदूषण गंभीर श्रेणी के करीब पहुंच गया था। इसे ध्यान में रखते हुए गुरुवार शाम को ग्रैप का तीसरा चरण लागू कर दिया गया था, लेकिन इसके बावजूद शुक्रवार को प्रदूषण गंभीर श्रेणी में पहुंच गया। इस दिन दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक 468 रहा, जो इस सीजन में सबसे ज्यादा है। वहीं, शनिवार को भी दिल्ली के अधिकाश इलाकों में प्रदूषण की चादर छाई रही। शनिवार को दिल्ली की सड़कों पर वाहनों की संख्या कम रहती है और ग्रैप का तीसरा चरण भी लागू है। इसके चलते शनिवार को दिल्ली के प्रदूषण में मामूली कमी देखने को मिली और वायु गुणवत्ता सूचकांक 412 रहा।

दस दिन हालात सुधरने के आसार नहीं 
विशेषज्ञों का मानना है कि अगले 10 से 12 दिन राजधानी में प्रदूषण बेहद खराब या गंभीर श्रेणी में बना रहेगा। एक तरफ जहां पराली का धुआं दिल्ली का दम घोंट रहा है तो वहीं तापमान में कमी और हवा की रफ्तार कम होना भी प्रदूषण बढ़ने की वजह है। शनिवार दोपहर हवा की गति 6 किलोमीटर प्रतिघंटा रही। वहीं, शाम को इसमें कुछ बढ़ोतरी देखने को मिली और यह 10 से 12 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चली। आमतौर पर 10 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हवा चलने पर प्रदूषक कणों का बिखराव नहीं हो पाता है। अगले कुछ दिन भी हवा शांत रहने की संभावना है। इसके चलते प्रदूषण में कमी आने की संभावना बेहद कम है। 

शादीपुर सबसे प्रदूषित रहा
दिल्ली में शनिवार को सबसे प्रदूषित क्षेत्र शादीपुर रहा, जहां वायु गुणवत्ता सूचकांक 463 रहा। दूसरे नंबर पर आनंद विहार रहा, जहां वायु गुणवत्ता सूचकांक 460 रहा। शनिवार को सबसे कम प्रदूषण  लोधी रोड पर रहा, जहां वायु गुणवत्ता सूचकांक 357 दर्ज किया गया। रविवार को भी दिल्ली में प्रदूषण गंभीर श्रेणी या बेहद खराब श्रेणी के ऊपरी हिस्से में रहने का अनुमान है। 

दिल्ली के सबसे प्रदूषित दस क्षेत्र
जगह                         वायु गुणवत्ता सूचकांक 

शादीपुर                             463
आनंद विहार                        460
करणी सिंह शूटिंग रेंज              452
वजीरपुर                            450
बवाना                              447
पंजाबी बाग                         441
जहांगीरपुरी                         436
ओखला फेज-2                    434
नरेला                              431
आरकेपुरम                       428

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें